nayaindia Hijab controversy Latest : उडुपी में 40 छात्राओं ने परीक्षा नहीं दी...
kishori-yojna
ताजा पोस्ट | देश| नया इंडिया| Hijab controversy Latest : उडुपी में 40 छात्राओं ने परीक्षा नहीं दी...

Hijab controversy : उडुपी में 40 छात्राओं ने परीक्षा नहीं दी, कोर्ट की कानूनी लड़ाई में थीं शामिल…

Hijab Controversy Sikh Highcourt
Image Source : Social Media

मंगलुरु | Hijab controversy Latest : कर्नाटक से शुरू हुए हिजाब विवाद ने देशभर में सुर्खियां बटोरी थीं. हाईकोर्ट के फैसले के बाद अब यह मामला सुप्रिम कोर्ट पहुंच चुका है. बताया गया है कि उडुपी जिले की 40 मुस्लिम छात्राओं ने मंगलवार को पहली प्री-यूनिवर्सिटी परीक्षा छोड़ दी. इसके पीछे का कारण ये था कि वे हाल में आए उच्च न्यायालय के उस आदेश से आहत थीं जिसके अनुसार कक्षा के भीतर हिजाब पहनकर प्रवेश को मंजूरी नहीं दी गई थी. सूत्रों ने बताया कि छात्राएं 15 मार्च के अदालत के आदेश से आहत थीं, इसलिए उन्होंने हिजाब के बिना परीक्षा में नहीं उपस्थित होने का निर्णय लिया. मंगलवार को परीक्षा छोड़ने वाली छात्राओं में कुंडापुर की 24 लड़कियां, बिंदूर की 14 और उडुपी सरकारी कन्या पीयू कॉलेज की दो लड़कियां शामिल हैं.

सभी छात्राएं कानूनी लड़ाई में थीं शामिल

Hijab controversy Latest : ये छात्राएं कक्षा में हिजाब पहनने पर कानूनी लड़ाई में शामिल थीं. इन लड़कियों ने पहले प्रायोगिक परीक्षा भी छोड़ दी थी. आर एन शेट्टी पीयू कॉलेज में 28 मुस्लिम छात्राओं में से 13 परीक्षा में उपस्थित हुईं. हालांकि कुछ छात्राएं हिजाब पहनकर परीक्षा केंद्र पहुंची लेकिन उन्हें प्रवेश करने की अनुमति नहीं मिली. उडुपी के भंडारकर कॉलेज की पांच में से चार छात्राओं ने परीक्षा दी और बसरूर शारदा कॉलेज की सभी छात्रायें परीक्षा में उपस्थित रहीं. नवुंदा सरकारी पीयू कॉलेज की आठ में से छह छात्राओं ने परीक्षा छोड़ दी जबकि 10 मुस्लिम लड़कियों में से केवल दो परीक्षा में उपस्थित हुईं.

इसे भी पढें- Rajasthan : खुद को निर्दोष साबित करने के लिए सुसाइड नोट में लिखा- मेरा मरना शायद मेरी बेगुनाही सबित कर दे….

SC ने तत्काल सुनवाई से किया इनकार

Hijab controversy Latest : बताया गया है कि जिले के कुछ निजी कॉलेजों ने लड़कियों को हिजाब पहनकर परीक्षा देने की अनुमति दी. उच्चतम न्यायालय ने कर्नाटक उच्च न्यायालय को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर तत्काल सुनवाई करने से 24 मार्च को इनकार कर दिया था. परीक्षा में ये सभी छात्राएं शामिल ना होने पर पहले ने सरकार की ओर से ये कह दिया गया है कि परीक्षा किसी भी हालत में दोबारा नहीं लिए जाएंगे.

इसे भी पढें-परिवहन मंत्री गडकरी ने दिया ऐसा बयान कि सभी पार्टियों के सांसद नहीं रोक पाए हंसी…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × two =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
कनाडा में हिंदू मंदिर में तोड़फोड़, पहले ऑस्ट्रेलिया में मंदिर बनाए गए थे निशाना
कनाडा में हिंदू मंदिर में तोड़फोड़, पहले ऑस्ट्रेलिया में मंदिर बनाए गए थे निशाना