nayaindia Human Sacrifice Andhra Pradesh: नशे में बकरे की जगह दे दी इंसान की बलि! 
देश| नया इंडिया| Human Sacrifice Andhra Pradesh: नशे में बकरे की जगह दे दी इंसान की बलि! 

नशे में बकरे की जगह दे दी इंसान की बलि! आंध्र प्रदेश में घटित खौफनाक घटना से हर कोई हैरान

चित्तूर | आंध्र प्रदेश में बेहद ही चौंकाने वाला और खौफनाक मामला सामने आया है। जिसने सभी के होश उड़ा दिए हैं। राज्य के चित्तूर जिले में एक शख्स से ऐसी क्रूरता दिखाई कि, बकरे के बदले इंसान की ही बली (Human Sacrifice Andhra Pradesh) दे दी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और पूरे मामले की छानबीन में जुटी हुई है।

ये भी पढ़ें:- सिद्धू ने आप पर साधा निशाना, केजरीवाल प्रवासी पक्षी हैं, फर्जी वादों के साथ लोगों को आकर्षित करने के लिए विभिन्न राज्यों का दौरा कर रहे

संक्रांति उत्सव में मंदिर में घटी घटना
पुलिस ने अभी तक की जांच पड़ताल में पाया है कि, संक्रांति उत्सव के दौरान ये घटना 16 जनवरी को एक मंदिर में हुई। जानकारी में ये भी सामने आया है कि, इस क्रूरता को अंजाम देने वाला शख्स पूरी तरह से नशे में धुत था।

murder

ये भी पढ़ें:- पंजाब में चुनाव से पहले ED की CM Channi के रिश्तेदार समेत कई जगहों पर छापेमारी

बकरे के बजाए पकड़ने वाले पर ही कर दिया वार
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सामने आया है कि, संक्रांति उत्सव के दौरान चलापति नाम के एक शख्स को मंदिर में बकरे की बलि (Human Sacrifice Andhra Pradesh) देनी थी, लेकिन शराब के नशे में धुत होने के कारण उसने बकरे के बजाए बकरे को पकड़ने वाले एक शख्स सुरेश की ही गर्दन पर हथियार चला दिया। आपको बता दें कि, मदनपल्ले गांव में संक्रांति के उपलक्ष्य में हर साल लोग बलि देने की परंपरा निभाते हैं। इस मौके पर येल्लम्मा मंदिर में बलि दी जाती है। लेकिन इस बार इस घटना ने सभी को हैरान कर दिया।

ये भी पढ़ें:- पीएम मोदी पर विवादित बयान मामले में मुसीबत में आए कांग्रेस के नाना पटोले, पुलिस में शिकायत दर्ज, गिरफ्तारी की मांग

अस्पताल ले जाने से पहले रास्ते में मौत
इस खौफनाक घटना से घबराए लोगों ने खून से लहूलुहान सुरेश को अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। लोगों ने इस खौफनाक घटना के आरोपी चलापति को पुलिस के हवाले कर दिया।

ये भी पढ़ें:- Republic day : 75 वर्षों में पहली बार, गणतंत्र दिवस परेड 30 मिनट देरी से शुरू होगी, जानें क्यों

Leave a comment

Your email address will not be published.

five × one =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
चिंतन शिविर से क्या बदलेगा?
चिंतन शिविर से क्या बदलेगा?