nayaindia Helina Missile : कामयाबी! स्वदेशी हेलीकॉप्टर से ‘हेलिना मिसाइल’ का सफल परीक्षण
kishori-yojna
देश | दिल्ली | राजस्थान| नया इंडिया| Helina Missile : कामयाबी! स्वदेशी हेलीकॉप्टर से ‘हेलिना मिसाइल’ का सफल परीक्षण

देश को बड़ी कामयाबी! स्वदेशी हेलीकॉप्टर से ‘हेलिना मिसाइल’ का सफल परीक्षण, हवा में बदल सकती हैं टारगेट

Russia deploying nuclear missiles

Jaipur | Helina Missile :  भारत ने देश की सुरक्षा के क्षेत्र में एक बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल ‘हेलिना’ का स्वदेशी हेलीकॉप्टर से सफलतापूर्वक परीक्षण किया है। ये परीक्षण राजस्थान के जैसलमेर जिले के पोकरण फायरिंग रेंज में किया गया। जिसमें ‘हेलिना’ ने सिमुलेटेड टैंक  टारगेट बनाते हुए नष्ट कर दिया। इस मिसाइल ने उड़ान में रहते हुए अचानक बदले गए लक्ष्य को मारने की क्षमता का प्रदर्शन किया। हेलिना मिसाइल के परीक्षण के दौरान रक्षा अनुसंधान और विकास (डीआरडीओ) के वैज्ञानिकों के साथ भारतीय सेना और भारतीय वायु सेना की संयुक्त टीम मौजूद रही। इस परीक्षण के बाद ‘हेलिना’ के इंडियन आर्मी और इंडियन एयरफोर्स में जल्द शामिल होने की उम्मीद हैै।

ये भी पढ़ें:- झारखंड के देवघर में दो दिनों से हवा में झूलती जिंदगियों को बचाने के लिए मशक्कत जारी, अब तक 42 लोगों का रेस्क्यू

ये सबकुछ खास हैं ‘हेलिना मिसाइल’ में
Helina Missile : राजस्थान के जैसलमेर में किए गए ‘हेलिना मिसाइल’ के सफल परीक्षण के बाद इसे शीघ्र ही आर्मी बेड़े में शामिल कर लिया जाएगा। आपको बता दें कि, नाग मिसाइल की रेंज बढ़ाकर इसे ‘ध्रुवास्त्र हेलिना‘ नाम दिया गया है। इसे एचएएल के रूद्र और लाइट कॉम्बैट हेलिकॉप्टरों पर ट्विन-ट्यूब स्टब विंग-माउंटेड लॉन्चर से लॉन्च किया जाता है। इस मिसाइल की सबसे बड़ी खासियत लॉन्च होने के बाद टारगेट बदल सकने की है। आपको बताते चले कि, इससे पहले 13 जुलाई, 2015 को एचएएल ने ‘हेलिना’ मिसाइल के 3 परीक्षण जैसलमेर की चांधन फायरिंग रेंज में रूद्र हेलिकॉप्टर से किए थे।

ये भी पढ़ें:- देश में कोरोना से राहत! आज सामने आए 796 नए मामले, एक्टिव केस घटकर हुए 10,889

– ‘हेलिना’ दुनिया की सबसे उन्नत एंटी टैंक गाइडेड मिसाइलों में से एक है।
– इस मिसाइल का वजन 45 किलोग्राम के करीब है और इसकी लंबाई 6 फीट और व्यास 7.9 इंच है।
– इस मिसाइल की रेंज 7 किलोमीटर तक हैै
– ये मिसाइल अपने साथ 8 किलो विस्फोटक लेकर उड़ने में सक्षम है।
– इस मिसाइल की मारक क्षमता बेहद ही सटीक है।
– ये मिसाइल लॉच होने के बाद हवा में टारगेट बदल सकने में सक्षम है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen − 17 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
विधानसभा से बर्खास्त महिला कर्मी का स्वास्थ्य बिगड़ा
विधानसभा से बर्खास्त महिला कर्मी का स्वास्थ्य बिगड़ा