nayaindia Jammu and Kashmir Hemant Kumar Lohia PAFF Terrorist jail जेल महानिदेशक की हत्या में आतंकी पहलू नहीं: पुलिस जम्मू-कश्मीर
देश | जम्मू-कश्मीर| नया इंडिया| Jammu and Kashmir Hemant Kumar Lohia PAFF Terrorist jail जेल महानिदेशक की हत्या में आतंकी पहलू नहीं: पुलिस जम्मू-कश्मीर

जेल महानिदेशक की हत्या में आतंकी पहलू नहीं: पुलिस जम्मू-कश्मीर

जम्मू। पुलिस ने मंगलवार को कहा कि जम्मू कश्मीर के महानिदेशक (Jammu and Kashmir Director General) (कारागार) (Prisons) हेमंत कुमार लोहिया (Hemant Kumar Lohia) की हत्या की प्रारंभिक जांच में आतंकवाद का पहलू सामने नहीं आया है और मामले में मुख्य संदिग्ध उनके घरेलू सहायक को गिरफ्तार करने के प्रयास जारी हैं।

सोमवार देर रात जम्मू के बाहरी इलाके में लोहिया के आवास पर उनकी हत्या कर दी गई थी। आतंकी समूह पीपुल्स एंटी-फासिस्ट फ्रंट (पीएएफएफ) ने लोहिया की हत्या की जिम्मेदारी ली है। यह घटना ऐसे समय में हुई है जब केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जम्मू-कश्मीर के तीन दिवसीय दौरे पर हैं। अधिकारियों ने कहा कि संदिग्ध अपराधी यासिर लोहर (23) को गिरफ्तार करने के लिए कई टीमों का गठन किया गया है, जो रामबन जिले के हल्ला-धंडरथ गांव का निवासी है।

पुलिस महानिदेशक (Director General of Police) दिलबाग सिंह (Dilbag Singh) ने इस घटना को बेहद दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि घरेलू सहायक फरार है और उसकी तलाश की जा रही है। सिंह ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि संदिग्ध ने 57 वर्षीय लोहिया को जलाने का भी प्रयास किया। लोहिया को अगस्त में जेल महानिदेशक नियुक्त किया गया था।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (जम्मू क्षेत्र) मुकेश सिंह ने बताया कि 1992 बैच के भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के अधिकारी लोहिया (52) शहर के बाहरी इलाके में अपने उदयवाला निवास पर मृत मिले और उनका गला रेता गया था। उन्होंने कहा कि घटना स्थल की प्रारंभिक जांच से संकेत मिलता है कि लोहिया ने अपने पैर में तेल लगाया होगा, जिनमें सूजन दिखाई दे रही थी। उन्होंने कहा कि हत्यारे ने लोहिया का गला काटने के लिए ‘केचप’ की टूटी हुई बोतल का इस्तेमाल किया और बाद में शव जलाने की भी कोशिश की।

एडीजीपी ने कहा कि अधिकारी के आवास पर मौजूद चौकीदारों ने उनके कमरे के अंदर आग लगी हुई देखी। कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था, जिसे तोड़ना पड़ा। उन्होंने कहा कि अपराध स्थल की प्रारंभिक जांच हत्या की ओर इशारा करती है।

आतंकवादी समूह ‘पीएएफएफ’ ने दावा किया कि उसके “विशेष दस्ते” ने इस वारदात को अंजाम दिया है। पीएएफएफ ने एक ऑनलाइन बयान में कहा, कि यह इस हिंदुत्व शासन और उसका समर्थन करने वालों को चेतावनी देने के लिए इस तरह के सनसनीखेज अभियान की शुरुआत है। हम कभी भी और कहीं भी सटीक हमला कर सकते हैं। यह सुरक्षा व्यवस्था के साथ दौरे पर आए उनके गृह मंत्री के लिए एक छोटा सा तोहफा है। ईश्वर ने चाहा तो हम भविष्य में भी इस तरह के अभियान जारी रखेंगे। (भाषा)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × 4 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
गहलोत की केंद्र सरकार को चेतावनी
गहलोत की केंद्र सरकार को चेतावनी