nayaindia Action of central agencies झारखंड में किस्तों में कार्रवाई
देश | झारखंड | राजरंग| नया इंडिया| Action of central agencies झारखंड में किस्तों में कार्रवाई

झारखंड में किस्तों में कार्रवाई

Jharkhand government trouble

झारखंड में केंद्रीय एजेंसियां और संवैधानिक संस्थाएं किस्तों में कार्रवाई कर रही हैं। प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी ने शुक्रवार को राज्य की वरिष्ठ आईएएस अधिकारी और माइंस सेक्रेटरी पूजा सिंघल और उनके करीबियों के यहां छापे मारे। जब छापे शुरू हुए तब खबर आई कि कई और अधिकारियों और मुख्यमंत्री के करीबियों के यहां छापेमारी हो रही है। मुख्यमंत्री के करीबी के नाते मशहूर हुए कारोबारी अमित अग्रवाल को यहां भी छापेमारी की खबर थी। न्यूज एजेंसी एएनआई ने इसका ट्विट भी किया। लेकिन पहले दौर में सिर्फ एक अधिकारी के यहां छापेमारी हुई, जिनके खिलाफ शिकायत कई साल से मिल रही थी। अब छापे की कार्रवाई की अगली किस्त का इंतजार हो रहा है। पक्ष और विपक्ष दोनों के लोग इस इंतजार में हैं। मुख्यमंत्री के करीबी कारोबारी, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार, मुख्यमंत्री के विधायक प्रतिनिधि सहित कई और लोगों के नाम हैं।

किस्तों में कार्रवाई का यह सिलसिला पिछले कई महीनों से चल रहा है। चुनाव आयोग ने लाभ के लिए पद के दुरुपयोग के मामले में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को नोटिस भेजा हुआ है। इस मामले में पहले सरकार से जवाब मांगा गया था। मुख्यमंत्री के बाद चुनाव आयोग ने उनके विधायक भाई बसंत सोरेन को भी नोटिस भेजा। हाई कोर्ट के आदेश पर खेलगांव घोटाले में पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरने और अन्य के खिलाफ सीबीआई जांच शुरू हो गई है। चार सौ फर्जी कंपनी बनाने के मामले में हाई कोर्ट ने रजिस्ट्रार ऑफ कंपनी और ईडी से जवाब मांगा है। इस मामले में मुख्यमंत्री और उनके कई करीबी शामिल हैं। पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना सोरेन को कथित तौर पर उद्योग विभाग की जमीन दिए जाने की शिकायत राज्यपाल से की है। बताया जा रहा है कि इस तरह की कार्रवाइयों कई किस्तें आने वाले दिनों में सामने आएंगी। किस्तों में हो रही इन कार्रवाइयों से मुख्यमंत्री और उनका पूरा परिवार और उनके करीबी लोग घिरते जा रहे हैं।

Tags :

Leave a comment

Your email address will not be published.

15 − thirteen =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
सवाल तो जायज है
सवाल तो जायज है