Big campaign Naxalites Jharkhand झारखंड सीमा पर नक्स्लियों के खिलाफ
देश | झारखंड| नया इंडिया| Big campaign Naxalites Jharkhand झारखंड सीमा पर नक्स्लियों के खिलाफ

झारखंड सीमा पर नक्स्लियों के खिलाफ चलेगा बड़ा अभियान

पलामू। बिहार में पंचायत चुनाव को लेकर झारखंड में भी सरगर्मी बढ़ गई है। सीमावर्ती इलाकों में सुरक्षा व्यरवस्थान को लेकर शुक्रवार को पलामू जिला मुख्यालय में इंटरस्टेट पुलिस अधिकारियों की बैठक हुई। झारखंड बिहार सीमा पर नक्सलियों के खिलाफ बड़ा अभियान चलेगा। साथ ही सीमा को सील किया जाएगा। बिहार में पंचायत चुनाव को लेकर पलामू में शुक्रवार को पुलिस अधिकारियों की हाई लेवल बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता बिहार के मगध जोन के आइजी अमित लोढ़ा ने की। Big campaign Naxalites Jharkhand

बिहार के औरंगाबाद और गया में 24 सितंबर को पंचायत चुनाव को लेकर वोटिंग है। इसे देखते हुए झारखंड बिहार सीमा पर नक्सलियों के खिलाफ सीआरपीएफ के साथ बड़ा अभियान चलेगा। बैठक में पलामू एसपी चंदन कुमार सिन्हा, औरंगाबाद एसपी और गया के सिटी एसपी, पलामू एएसपी के विजयशंकर, कपिल चौधरी, अभियान एसपी बीके मिश्रा, एसडीपीओ सुरजीत कुमार समेत कई टॉप अधिकारी मौजूद थे। इस बैठक में बिहार में पंचायत चुनाव को लेकर नक्सल गतिविधि पर चर्चा की गई। साथ ही उनके खिलाफ कार्रवाई की योजना तैयार की गई।

cyber crime police

Read also ATM का क्लोन बनाकर पैसे निकाले

बिहार पंचायत चुनाव को लेकर पलामू में बैठक के दौरान सुरक्षा व्य वस्थार को लेकर आपसी समन्वरय पर बातचीत हुई।

बिहार पंचायत चुनाव को लेकर सीमा पर हाई अलर्ट जारी किया गया है। मतदान से 24 घंटे पहले बिहार सीमा को सील कर दिया जाएगा। इसके लिए आधा दर्जन से अधिक पुलिस चेकपोस्ट बनाए जाएंगे। नक्सलियों के खिलाफ अभियान के लिए झारखंड और बिहार पुलिस संयुक्त रूप से अभियान चलाएगी। अभियान को लेकर पलामू, गया और औरंगाबाद पुलिस एक दूसरे से सूचनाओं को साझा करेगी। बिहार मगध जोन के आइजी अमित लोढ़ा ने बताया कि पंचायत चुनाव के दौरान सुरक्षा व्यवस्था पर चर्चा की गई। चुनाव को लेकर पलामू पुलिस काफी सहयोग कर रही है। बैठक में कई जरूरी सूचनाओं को साझा किया गया।

इंटरस्टेट बैठक में नक्सल गतिविधियों पर निगरानी बढ़ाने पर चर्चा की गई। झारखंड बिहार के पुलिस अधिकारियों ने एक दूसरे के इलाके में सक्रिय नक्सलियों की सूची भी साझा की है। चुनाव से पहले बिहार सीमा पर संदिग्ध अपराधी और अवैध शराब के कारोबारियों के खिलाफ भी कार्रवाई का निर्णय हुआ है। सीआरपीएफ के साथ समन्वय स्थापित कर इंटरस्टेट बॉर्डर में नक्सलियों के टॉप कमांडर पर निगरानी बढ़ाई जाएगी और उनको टारगेट कर कारवाई की जाएगी।

Tags :

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
डा कादिर खानः पाक के हीरो या जीरो?
डा कादिर खानः पाक के हीरो या जीरो?