nayaindia VHP on Bakrid and kanwar yatra: बकरीद के लिए दी जा रही छूट को देखते हुए...
kishori-yojna
देश | उत्तर प्रदेश| नया इंडिया| VHP on Bakrid and kanwar yatra: बकरीद के लिए दी जा रही छूट को देखते हुए...

विश्व हिंदू परिषद ने केरल में बकरीद पर दी जा रही छूट को कांवर यात्रा से जोड़ा, SC से संज्ञान लेने की अपील, कहा- सलेक्टिव दृष्टिकोण…

नई दिल्ली | VHP on Bakrid and kanwar yatra: कांवड़ यात्रा को लेकर शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. हालांकि सुप्रीम कोर्ट के बाद केंद्र सरकार ने भी कावड़ यात्रा इस साल नहीं निकाले जाने के लिए कहा है. इस संबंध में सर्वोच्च न्यायालय ने उत्तर प्रदेश सरकार को सोचने के लिए समय भी दिया है. लेकिन अब कावड़ यात्रा विवाद में विश्व हिंदू परिषद की भी इंट्री हो गई है. विश्व हिंदू परिषद ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की सरकार को कावड़ यात्रा पर लगाए गए प्रतिबंध के बारे में एक बार फिर से विचार करने की अपील की है. इस बयान के संदर्भ में केरल में बकरीद के मौके पर दी गई छूट का उदाहरण देते हुए विश्व हिंदू परिषद का कहना है कि आपको भी एक बार फिर से कावड़ यात्रा पर विचार करने की आवश्यकता है.

सलेक्टिव दृष्टिकोण नहीं अपनाने की गुजारिश

VHP on Bakrid and kanwar yatra: विश्व हिंदू परिषद के महासचिव सुरेंद्र जैन ने कहा कि मैं सुप्रीम कोर्ट से से अपील करता हूं कि केरल में बकरीद के लिए दी जा रही छूट को देखते हुए कोर्ट को सिलेक्टिव दृष्टिकोण नहीं अपनाना चाहिए. उन्होंने कहा कि मैं एक बार फिर से यूपी और उत्तराखंड की सरकारों को अपने फैसले पर विचार करने की अपील करता हूं. उन्होंने कहा कि धार्मिक स्वतंत्रता के नाम पर भेदभाव किया जाना किसी भी हाल में सही नहीं है.

इसे भी पढ़ें-24 घंटे में सामने आए 41 हजार के करीब मरीज, 97.31 प्रतिशत रहा रिकवरी रेट

VHP on Bakrid and kanwar yatra:

सुप्रीम कोर्ट को लेना चाहिए संज्ञान

विश्व हिंदू परिषद के महासचिव सुरेंद्र जैन का कहना है कि केरल में जब ईद उल अजहा ( बकरीद) के लिए विशेष छूट दी जा सकती है तो फिर उत्तर प्रदेश में कांवड़ियों को क्यों नहीं. उन्होंने कहा कि यदि यूपी में कावड़ यात्रा नहीं निकलती है तो सुप्रीम कोर्ट को केरल में दी जा रही छूट पर संज्ञान लेना चाहिए. बता दें कि उत्तराखंड सरकार ने यह स्पष्ट कर दिया है कि इस बार वह कावड़ यात्रा को कोरोना के कारण प्रतिबंधित कर रही है. हालांकि टैंकरों में गंगाजल भरकर उत्तर प्रदेश पहुंचाने के लिए उत्तराखंड की सरकार तैयार है.

इसे भी पढ़ें-Mumbai में बारिश ने मचाया मौत का तांडव! अब तक 23 लोगों की मौत, राजस्थान में भी भारी बारिश का Alert

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × five =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
अलवर में नौ हजार लीटर हथकढ़ शराब नष्ट
अलवर में नौ हजार लीटर हथकढ़ शराब नष्ट