nayaindia Karnataka Temple-Mosque Dispute : ज्ञानवापी जैसा विवाद ... धारा 144 लागू...
ताजा पोस्ट | देश| नया इंडिया| Karnataka Temple-Mosque Dispute : ज्ञानवापी जैसा विवाद ... धारा 144 लागू...

Karnataka Temple-Mosque Dispute : कर्नाटक में फिर टेंशन, यहां भी ज्ञानवापी जैसा विवाद … धारा 144 लागू…

Karnataka Temple-Mosque Dispute
Image Source : Social Media

मंगलुरु | Karnataka Temple-Mosque Dispute : देशभर में बीते् कुछ समय से लगातार देश की धरोहरों और राष्ट्रीय विरासतों के वर्चस्व को लेकर हंगामी जारी है. ताजमहल से लेकर ज्ञानवापी हो या मथुरा-काशी हर जगह दो समुदायों के बीच केस चल रहा है. ऐसे में एक बार फिर से कर्नाटक से एक और ऐसा मामला सामने आया है. जिसके बाद यहां मंगलुरु के मलाली में जुम्मा मस्जिद से 500 मीटर के दायरे तक बुधवार सुबह आठ बजे से धारा 144 लागू कर दी गई है. इस दिन सुबह करीब साढ़े आठ बजे थेनकुलीपडी के श्री रामंजनेय भजन मंदिर में तंबुला प्रश्न नामक धार्मिक आयोजन किए जाने के बाद सीआरपीसी की धारा 144 लगाई गई है. चूंकि हिंदू सामाजिक संगठनों का मानना है कि जुमा मस्जिद का निर्माण मंदिर के स्थान पर किया गया है इसलिए ‘तंबुला प्रश्न’ अनुष्ठान के बाद ‘अष्टमंगला प्रणाम’ की तैयारियां शुरू हो गईं.

नवीनीकरण कार्य के दौरान शुरू हुआ विवाद…

Karnataka Temple-Mosque Dispute : बता दें कि 22 अप्रैल को मैंगलुरु शहर के बाहरी इलाके में स्थित जुमा मस्जिद में मस्जिद अधिकारियों द्वारा कराए जा रहे नवीनीकरण कार्य के दौरान मस्जिद के नीचे एक हिंदू मंदिर के जैसा वास्तुशिल्प डिजाइन मिलने की बात कही गई थी. इसके बाद इलाके के हिंदू संगठनों ने दावा किया कि मस्जिद स्थल पर मंदिर के होने की पूरी संभावना है. इस बीच, विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने जिला प्रशासन से दस्तावेजों के सत्यापन तक मस्जिद में काम स्थगित करने की अपील की. यहां स्थानीय विधायक भरत शेट्टी ने मामले पर पुरातत्व सर्वेक्षण के हस्तक्षेप की मांग की ताकि यह पता लगाया जा सके कि जुमा मस्जिद के नीचे कोई मंदिर है या नहीं.

इसे भी पढें- दिग्विजय सिंह ने वीडियो शेयर कर प्रसिद्ध कथावाचक से पूछा- ‘मोदी प्रसंग’ किस धार्मिक ग्रंथ का अंग…

लोगों से शांति बनाए रखने की अपील…

Karnataka Temple-Mosque Dispute : शहर की एक अदालत मामले की सुनवाई कर रही है और उसने मस्जिद के अध्यक्ष समेत सभी हितधारकों पर अस्थायी निषेधाज्ञा जारी की है. इधर, मस्जिद प्रबंधन समिति का दावा है कि उनके पास सभी प्रासंगिक दस्तावेज हैं और वे इसे अदालत के समक्ष पेश करेंगे. विवाद को संज्ञान में लेते हुए उपायुक्त केवी राजेंद्र ने मंगलवार को अधिकारियों और हितधारकों के साथ बैठक की और अगले आदेश तक संरचना की यथावत बनाए रखने का निर्देश दिया. इसके साथ ही प्रशासन भी भू-अभिलेखों की जांच कर रहा है और लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है।

इसे भी पढें-America School Shooting : 18 बच्चों समेत 21 की मौत के बाद बोले बाइडन- अब मैं उब चुका हूं…

Leave a comment

Your email address will not be published.

two + seven =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
महाराष्ट्र में अभी भी खींचतान, शिंदे बोले- सीएम उद्धव उन विधायकों का नाम बताएं जो संपर्क में हैं…
महाराष्ट्र में अभी भी खींचतान, शिंदे बोले- सीएम उद्धव उन विधायकों का नाम बताएं जो संपर्क में हैं…