Kisan Mahapanchayat Rajasthan : राजस्थान में किसान महापंचायत, दो सभाओं
देश | राजस्थान| नया इंडिया| Kisan Mahapanchayat Rajasthan : राजस्थान में किसान महापंचायत, दो सभाओं

Kisan Andolan: राजस्थान में किसान महापंचायत, दो सभाओं में गरजेंगे किसान नेता राकेश टिकैत

Kisan Andolan

अलवर। Kisan Mahapanchayat Rajasthan :  कृषि कानूनों के विरोध में देशभर में शुरू हुए किसान आंदोलन (kisan aandolan) के लंबे समय से चलने के बाद भी केन्द्र सरकार और किसानों के बीच वार्ता का रूख साफ नहीं होता दिख रहा है। ऐसे में किसान अपने आंदोलन में उग्रता लाने को तत्पर हो गए हैं। संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा तिथि वार आंदोलन की तैयारियां कर देशव्यापी आंदोलन की रूपरेखा का ऐलान किया है। वहीं ही शाहजहांपुर-खेडा बॉर्डर पर आयोजित किसान सभा में अलवर जिले के हरसौली व बानसूर में होने वाली किसान महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) के आयोजन में अधिकाधिक किसानों की भागीदारी बढ़ाने के लिए की तैयारियां की जा रही है।

Kisan Mahapanchayat Rajasthan : भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश महासचिव बलबीर सिंह छिल्लर के अनुसार शुक्रवार को हरसौली में व बानसूर में किसान महापंचायत का आयोजन है। दोनों किसान सभाओं में किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait), योगेन्द्र यादव, युद्धवीर चैधरी, राजाराम मील सहित स्थानीय जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में किसान महापंचायत होगा। इस आयोजन को और अधिक बड़ा बनाने के किलए हरसौली और बानसूर में किसानों से संपर्क साधा गया है।

 

10 अप्रेल को एमपी ब्लॉक का फैसला
Kisan Mahapanchayat Rajasthan : संयुक्त किसान मोर्चा की आम सभा मे लिए गये निर्णय के अनुसार पूर्व विधायक पवन दुग्गल ने कहा कि 5 अप्रेल को एफसीआई बचाओ दिवस मनाया जायेगा, 10 अप्रेल को 24 घण्टे के एमपी को ब्लॉक करने का फैसला भी लिया गया।

 

दिल्ली की सीमाओं पर मनाए जाएंगे त्योहार
Kisan Mahapanchayat Rajasthan : 13 अप्रेल को आंदोलन स्थल पर वैशाखी का त्योहार मनाया जायेगा। 14 अप्रेल को डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती पर संविधान बचाओ दिवस तो वहीं एक मई को मजदूर दिवस के रूप में आंदोलन स्थलों पर मजदूर एकता समर्पित किसान-मजदूर एकता दिवस मनाया जायेगा।

6 मई को संसद कूच!
Kisan Mahapanchayat Rajasthan :किसान आंदोलन को और मजबूत करने के लिए 6 मई के पहले पखवाड़े मे संसद कूच किया जायेगा। इसमे महिलाएं, दलित, आदीवासी, बहुजन, बेरोजगार युवा सहित सर्व समाज का तबका शामिल होगा। यह कार्यक्रम पूर्ण रूप से शांतिपूर्वक अहिंसात्मक होगा। हालाकि संसद कूच की निश्चित तारीख संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा तय कर घोषणा की जायेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
IPL 2022: इस सीजन में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर में विराट कोहली की कप्तानी करेंगे दिल्ली के ये खिलाड़ी
IPL 2022: इस सीजन में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर में विराट कोहली की कप्तानी करेंगे दिल्ली के ये खिलाड़ी