nayaindia BJP Five District Presidents मध्य प्रदेश में भाजपा ने पांच जिलाध्यक्ष बदले
kishori-yojna
देश | मध्य प्रदेश| नया इंडिया| BJP Five District Presidents मध्य प्रदेश में भाजपा ने पांच जिलाध्यक्ष बदले

मध्य प्रदेश में भाजपा ने पांच जिलाध्यक्ष बदले

BJP.

भोपाल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में नगरीय निकाय चुनाव के नतीजों की भाजपा समीक्षा कर रही है और ऐसे पदाधिकारियों पर कार्रवाई का भी सिलसिला शुरू हो गया है, जहां भाजपा (BJP) को हार का सामना करना पड़ा है या फिर अन्य शिकायतें आई हैं। इसी क्रम में पांच जिलाध्यक्षों को बदल दिया गया है और आने वाले दिनों में कई और पदाधिकारियों पर भी गाज गिर सकती है। राज्य में अभी हाल ही में नगरीय निकाय और पंचायतों के चुनाव हुए हैं। इन चुनावों में भाजपा को कुछ स्थानों पर उम्मीद के विपरीत हार का सामना करना पड़ा है। पार्टी संगठन समीक्षा कर रही है कि आखिर इन इलाकों में पार्टी को हार का सामना क्यों करना पड़ा है। पार्टी की ओर से की गई समीक्षा मे जो बातें सामने आई है उसी के आधार पर पांच जिला अध्यक्ष — भिंड (Bhind) के नाथू सिंह गुर्जर (Nathu Singh Gurjar), ग्वालियर नगर के कमल मखीजानी (Kamal Makhijani), गुना के गजेंद्र सिंह सिकरवार (Gajendra Singh Sikarwar), अशोकनगर के उमेश रघुवंशी (Umesh Raghuvanshi) और कटनी के राम रतन पायल (Ram Ratan Payal) को उनके पदों से हटा दिया गया है।

इन सभी को प्रदेश कार्यसमिति का सदस्य बनाया गया है। यहां बताना लाजिमी होगा कि भाजपा को ग्वालियर (Gwalior) और कटनी (Katni) में महापौर पद पर हार का सामना करना पड़ा था, इसी तरह संगठन की कमान संभालने वाले नेताओं के संबंध में भी शिकायतें आई थी। उसी के आधार पर प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा (Vishnu Dutt Sharma) ने यह बदलाव किए हैं। पार्टी ने अब भिंड का जिला अध्यक्ष देवेंद्र नरवरिया (Devendra Narwaria), ग्वालियर नगर का अभय चौधरी (Abhay Choudhary), गुना का धर्मेंद्र सिकरवार (Dharmendra Sikarwar), अशोकनगर का आलोक तिवारी (Alok Tiwari) और कटनी का दीपक सोनी (Deepak Soni) को जिलाध्यक्ष बनाया है। पार्टी सूत्रों का कहना है कि जिला अध्यक्षों से लेकर अन्य पदाधिकारियों की भी कार्यशैली की समीक्षा की जा रही है और कई पदाधिकारियों की कार्यशैली से संगठन संतुष्ट नहीं है, लिहाजा आने वाले दिनों में और भी कई बड़े बदलाव संभावित हैं। (आईएएनएस)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seven + twelve =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
एमएसएमई के लिए 9,000 करोड़ का प्रस्ताव
एमएसएमई के लिए 9,000 करोड़ का प्रस्ताव