कमलनाथ पर चुनाव आयोग की कार्रवाई

नई दिल्ली।  चुनाव आयोग ने प्रचार के दौरान बदजुबानी के आरोप में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ पर बड़ी कार्रवाई की है। चुनाव आयोग ने कमलनाथ का स्टार प्रचारक का दर्जा खत्म कर दिया है। इसका मतलब है कि राज्य की 28 सीटों के लिए हो रहे उपचुनाव में अब अगर कमलनाथ किसी उम्मीदवार के लिए प्रचार करने जाते हैं तो प्रचार का खर्च उम्मीदवार के खर्च में जोड़ा जाएगा। चुनाव आयोग ने मध्य प्रदेश भाजपा के नेताओं को बदजुबानी के मामले में चेतावनी देकर छोड़ दिया है।

गौरतलब है कि कमलनाथ ने राज्य सरकार की मंत्री इमरती देवी को ‘आइटम’ कह था और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के लिए ‘नौटंकी का कलाकार’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया था। इस वजह से आयोग ने उनका स्टार प्रचारक का दर्ज खत्म कर दिया है। ध्यान रहे स्टार प्रचारक के प्रचार का खर्च पार्टी के खर्च में जोड़ा जाता है। लेकिन अब कमलनाथ के प्रचार का खर्च उम्मीदवार के खाते में जोड़ा जाएगा।

असल में चुनाव आयोग को भाजपा और राष्ट्रीय महिला आयोग की तरफ से शिकायत मिली थी कि मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता कमलनाथ ने महिला उम्मीदवार इमरती देवी को ‘आइटम’ कहा था। इस पर आयोग ने कहा कि किसी महिला के लिए ‘आइटम’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल कर कमलनाथ ने चुनाव आयोग के दिशा-निर्देश का उल्लंघन किया है। इस पर चुनाव आयोग ने उनको चेतावनी दी थी।

इसके बाद आयोग ने कमलनाथ के दो बयानों ‘शिवराज नौटंकी के कलाकार, मुंबई जाकर एक्टिंग करें’ और ‘आपके भगवान तो वो माफिया हैं, जिससे आपने प्रदेश की पहचान बनाई, आपके भगवान तो मिलावटखोर हैं’ पर भी गौर किया। आयोग ने कहा कि एक नेता होने के बावजूद कमलनाथ बार-बार आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं। इस वजह से चुनाव आयोग उनका स्टार प्रचारक का दर्जा वापस ले लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares