BJP Shivraj singh chuhan मिशन 2023 के लिए जलने लगे उम्मीदों के दिये
गेस्ट कॉलम | देश | मध्य प्रदेश| नया इंडिया| BJP Shivraj singh chuhan मिशन 2023 के लिए जलने लगे उम्मीदों के दिये

मिशन 2023 के लिए जलने लगे उम्मीदों के दिये

भोपाल। फिलहाल देश में जहां पांच राज्यों की चुनावी तैयारियां शुरू हो गई है। वहीं प्रदेश में उपचुनाव के परिणाम की व्याख्या दोनों ही दल कुछ इस तरह से कर रहे हैं जिससे उनके समर्थकों के मिशन 2023 के लिए उम्मीदों के दिए जलते रहे त्रिस्तरीय पंचायती राज और नगरी निकाय के संभावित चुनाव के माध्यम से भी इन दियों में तेल डाला जाएगा।

दरअसल, राजनीति में सकारात्मक संदेश बनाए रखने के लिए राजनीतिक दल हर मुद्दे को हार या जीत को कुछ इस तरह से तर्क सहित परिभाषित करते हैं जिसमें हर दृष्टि से उनका पक्ष मजबूत दिखाई देता है। हाल ही में प्रदेश में बहुचर्चित बहुप्रतीक्षित खंडवा लोकसभा, रैगांव, जोबट और पृथ्वीपुर विधानसभा के चुनाव के परिणाम आए हैं खंडवा लोकसभा पृथ्वीपुर जोबट विधानसभा भाजपा ने जीती है। वही रैगांव विधानसभा कांग्रेस जीतने में सफल हुई है और इसके बाद भाजपा में जहां पार्टी के अंदर जीत का श्रेय लेने की होड़ मची है, वही कांग्रेस में हार के कारणों की खोज और किस पर ठीकरा फोड़ा जाए उसकी तलाश चल रही है लेकिन पार्टी के बाहर दोनों ही दलों के नेता इन परिणामों की व्याख्या कुछ इस तरह से कर रहे हैं जिससे उनका ही पक्ष मजबूत दिखाई दे रहा है।

यदि आंकड़ों की बात की जाए तो 4 सीटों में से 3 सीटें भाजपा ने जीती हैं जिसमें खंडवा लोक सभा पर जहां अपनी जीत बरकरार रखी है। वहीं पृथ्वीपुर जोबट कांग्रेस से छीनी है जबकि कांग्रेस में एकमात्र रैगांव विधानसभा सीट जीती है जो कि भाजपा से उसने छीनी है। ऐसे में भाजपा का पलड़ा भारी है और भाजपा नेताओं के तर्क इस जीत को बेहद महत्वपूर्ण बना रहे हैं।

Politcs BJP Maharashtra Jharkhand

मसलन परिणाम आने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पृथ्वीपुर और जोबट की जीत को महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने कहा के पृथ्वीपुर में हमारे पास प्रत्याशी नहीं था। 2018 में हम चौथे स्थान पर रहे शुरू में यही प्रयास किए जा रहे थे कि कम से कम हम मुकाबले में रहे और हमारी करारी पराजय ना हो लेकिन यह सीट जीतकर पार्टी ने चमत्कार किया है। इसी तरह उन्होंने जोबट विधानसभा उपचुनाव की जीत को इस दृष्टि से महत्वपूर्ण बताया। यह सीट कांग्रेस का गढ़ तो थी ही, साथ ही आदिवासी बाहुल्य सीट थी और पिछले कुछ महीनों से यह प्रचार किया जा रहा था कि भाजपा से आदिवासी समाज दूर हो रहा है लेकिन जोबट विधानसभा की जीत ने सिद्ध कर दिया है कि हमारे आदिवासी भाई-बहन आज भी भाजपा पर भरोसा करते हैं और हम उनके कल्याण के लिए काम करते हैं।

पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने 3 सीटों पर मिली जीत को प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के लोक कल्याण कार्यों की जीत बताया एवं प्रदेश में भाजपा के मजबूत संगठन को इसका श्रेय दिया। वहीं दूसरी ओर विपक्षी दल कांग्रेस इन चारों चुनाव के परिणाम को भाजपा की और बता रहा है। पार्टी नेताओं का कहना है कि प्रशासनिक मशीनरी का दुरुपयोग करके भाजपा ने 3 सीटें जीती हैं जबकि रैगांव पार्टी ने भाजपा से छीनी है और वहां उसकी कारगुजारी नहीं चल पाई। यही नहीं चारों सीटों पर कांग्रेस का वोट प्रतिशत बढ़ा है। यदि निष्पक्ष चुनाव होते तो पार्टी चारों सीटें जीतती। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ आज पार्टी की बैठक में हार के कारणों की समीक्षा भी करेंगे लेकिन पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच पार्टी इन चुनाव के परिणामों को इस तरह से रख रही है कि जिससे मिशन 2023 के लिए पार्टी के कार्यकर्ता बढ़े हुए मनोबल के साथ सक्रिय रहे।

कुल मिलाकर उपचुनाव के परिणाम आने के बाद भी दोनों ही दल आराम करने के मूड में नहीं है बल्कि मिशन 2023 की तैयारियों में जुट गए हैं और इसके लिए आगामी दिनों होने वाले त्रिस्तरीय पंचायती राज और नगरीय निकाय के चुनाव में एक और जोर आजमाइश करेंगे। कांग्रेस जहां आगामी दिनों की आज अपनी रणनीति बनाएगी वहीं सत्ताधारी दल भाजपा इस समय 15 नवंबर की जोरदार तैयारियों में जुट गई है जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आ रहे हैं और जो कि हबीबगंज स्टेशन का उद्घाटन करेंगे एवं जनजातीय गौरव दिवस के कार्यक्रम में शामिल होंगे। जिसमें प्रदेश के कोने-कोने से आदिवासी वर्ग के लोगों को आमंत्रित किया गया है। जाहिर है 2018 विधानसभा चुनाव के परिणाम में जहां कांग्रेस में प्रदेश में सरकार बनाने की ललक पैदा कर दी है। वहीं भाजपा अब किसी भी प्रकार की रिस्क लेने को तैयार नहीं है। यही कारण है कि दोनों ही दल मिशन 2023 के लिए उम्मीदों के दिये जलाने शुरू कर दिए हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
देवभूमि उत्तराखंड में चुनावों से पहले कोरोना का घमासान, लगातार बढ़ रहे संक्रमित, आज सामने आए 3 हजार पार
देवभूमि उत्तराखंड में चुनावों से पहले कोरोना का घमासान, लगातार बढ़ रहे संक्रमित, आज सामने आए 3 हजार पार