देशमुख के स्थान पर पाटिल होंगे नये गृह मंत्री, मंत्रीमंडल में हुए हैं और भी फेरबदल - Naya India
देश | महाराष्ट्र| नया इंडिया|

देशमुख के स्थान पर पाटिल होंगे नये गृह मंत्री, मंत्रीमंडल में हुए हैं और भी फेरबदल

महाराष्ट्र में सियासी उठा पठक के बीच जनता को अपना नया गृह मंत्री मिल गया है.  मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray)  ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी  (Bhagat Singh Koshyari ) से गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh ) का इस्तीफा स्वीकार करने के साथ ही उनके स्थान पर दिलीप वाल्से पाटिल को गृह विभाग का प्रभार सौंपने का अनुरोध किया है. उद्धव ठाकरे ने राज्यपाल कोश्यारी को साेमवार की शाम पत्र लिखकर इस आशय का अनुरोध किया. पत्र में श्री पाटिल से श्रम विभाग का अतिरिक्त प्रभार हसन मुश्रीफ और राज्य के आबकारी विभाग का प्रभार उप मुख्यमंत्री और वित्त मंत्री अजीत पवार (Ajit Pawar ) को सौंपने का अनुरोध भी किया गया है.

CBI जांच के आदेश के बाद दिया था इस्तीफा

उद्योगपति मुकेश अंबानी (Industrialist Mukesh Ambani)के घर एंटीलिया के समीप विस्फोटक से लदी कार रखने के आरोपी सहायक पुलिस निरीक्षक सचिन वाजे के मामले में पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह (Parambir Singh) के तबादले की आंच में झुलसे महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने सोमवार को इस्तीफा दे दिया था. बॉम्बे उच्च न्यायालय ने देशमुख के खिलाफ वसूली के आरोपों की जांच केन्द्रीय जांच ब्यूराे (CBI) से कराने का आदेश दे दिये थे. जिसके बाद देशमुख ने इस्तीफा दे दिया.

100 करोड़ रुपये की उगाही का आरोप

महाराष्ट्र सरकार ने प्रसिद्ध उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक मिलने के मामले से निपटने को लेकर आलोचनाओं का सामना कर रहे मुंबई के तत्कालीन पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह का तबादला होमगार्ड विभाग में कर दिया था.  रिपोर्ट के अनुसार तबादले के बाद परमबीर सिंह ने मुख्यमंत्री ठाकरे को लिखी चिट्ठी में कहा था कि सचिन वाजे ने उन्हें बताया कि देशमुख ने उनसे हर महीने 100 करोड़ रुपये उगाही के लिए कहा है.श्री सिंह ने यह मामला बाम्बे उच्च न्यायालय में उठाया और इसके बाद BJP के वरिष्ठ नेता देवेन्द्र फडनवीस ने गृह मंत्री अनिल देशमुख के इस्तीफे की मांग की. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी इस बात पर अड़ी रही कि श्री देशमुख इस्तीफा नहीं देगे लेकिन सोमवार को अदालत के आदेश के बाद राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी में राजनीतिक हलचल तेज हो गयी और श्री देशमुख को इस्तीफा देना पड़ा. इसके बाद से महाराष्ट्र में सियासी उठा पटक अब भी जारी है.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
बंगाल में लेफ्ट की नीति से कांग्रेस नाराज
बंगाल में लेफ्ट की नीति से कांग्रेस नाराज