nayaindia many projects of Maharashtra went to Gujarat एक नहीं महाराष्ट्र के कई प्रोजेक्ट गुजरात गए
देश | महाराष्ट्र | राजरंग| नया इंडिया| many projects of Maharashtra went to Gujarat एक नहीं महाराष्ट्र के कई प्रोजेक्ट गुजरात गए

एक नहीं महाराष्ट्र के कई प्रोजेक्ट गुजरात गए

महाराष्ट्र में एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली सरकार मुश्किल में फंसी हैं। उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिव सेना और एनसीपी व कांग्रेस ने वेदांता-फॉक्सकॉन का डेढ़ लाख करोड़ रुपए का प्रोजेक्ट गुजरात चले जाने का बड़ा मुद्दा बनाया है। महाराष्ट्र की विपक्षी पार्टियों ने यह मुद्दा बनाया है कि एक एक करके राज्य का सारे बड़े प्रोजेक्ट गुजरात जा रहे हैं और इस तरह मुंबई व महाराष्ट्र का महत्व कम किया जा रहा है। यह भी प्रचार हो रहा है कि एक दिन मुंबई भी गुजरात में चला जाएगा या उसे केंद्र शासित बना दिया जाएगा। बचाव में पहले तो शिंदे गुट और भाजपा ने पिछली सरकार पर ठीकरा फोड़ना चाहा लेकिन खुद शिंदे की चिट्ठी सामने आने के बाद दोनों बैकफुट पर आए और तब उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने कहा कि गुजरात कोई पाकिस्तान में नहीं है।

हालांकि फड़नवीस जानते हैं कि जब हितों का टकराव आता है तो मुंबई व महाराष्ट्र के लोग गुजरात को पाकिस्तान की तरह ही मानते हैं। बहरहाल, शिंदे के मुख्यमंत्री बनने के बाद वेदांता समूह के मालिक अनिल अग्रवाल के साथ उनका पत्राचार हुआ है। 26 जुलाई को लिखी अपनी चिट्ठी में अनिल अग्रवाल ने शिंदे से कहा है कि वे इस प्रोजेक्ट के लिए दो बातें अहम हैं। एक केंद्र की सहमति और दूसरी राज्य की कैबिनेट की मंजूरी। इसके जवाब में शिंदे ने लिखा- आपको जानकर खुशी होगी कि दोनों मोर्चों पर केंद्र सरकार एडवांस्ड स्टेज में है और बहुत तेजी से आगे बढ़ रही है। उन्होंने 29 जुलाई को एमओयू के लिए अनिल अग्रवाल को आमंत्रित भी किया।

इस तरह पिछली सरकार पर ठीकरा फोड़ने का मामला फेल हो गया। उसके बाद यह भी खबर आई है कि पिछले आठ साल में महाराष्ट्र के कई प्रोजेक्ट गुजरात चले गए। मुंबई में इंटरनेशनल फाइनेंशिएल सेंटर बनाने की तैयारी 2007 से चल रही थी और राज्य सरकार ने बांद्रा-कुर्ला काम्पलेक्स को इसके लिए विकसित किया था। लेकिन केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार बनते ही यह प्रोजेक्ट गुजरात चला गया। इसी तरह मुंबई पर आतंकी हमले के बाद से नेशनल एकेडमी ऑफ कोस्टल पोलिसिंग मुंबई से सटे पालघर में बनाने की तैयारी हो रही थी और जमीन भी आवंटित हो गई थी लेकिन वह एकेडमी भी गुजरात चली गई और अब वेदांता-फॉक्सकॉन की परियोजना भी पुणे के तालेगांव से गुजरात चली गई।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen + two =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
जामा मस्जिद में महिलाओं की एंट्री का आदेश वापस होगा
जामा मस्जिद में महिलाओं की एंट्री का आदेश वापस होगा