महाराष्ट्र में अब ठाकरे राज! - Naya India
देश | महाराष्ट्र | समाचार मुख्य| नया इंडिया|

महाराष्ट्र में अब ठाकरे राज!

मुंबई। बाल ठाकरे किसी जमाने से रिमोट कंट्रोल से महाराष्ट्र की सरकार चलाते थे अब उनके बेटे उद्धव ठाकरे ने सीधे राज्य की कमान संभाल ली है। गुरुवार को उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। वे बिना विधायक बने महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनने वाले पहले नेता हैं। उनके साथ छह मंत्रियों ने भी शपथ ली। मुंबई के शिवाजी पार्क में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने मुख्यमंत्री और छह मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई।

सरकार में शामिल शिव सेना, एनसीपी और कांग्रेस के दो-दो नेताओं को मंत्री पद की शपथ दिलाई गई। शिवाजी पार्क में हजारों लोगों की मौजूदगी में एक भव्य समारोह में शपथ ग्रहण हुआ। मंच पर छत्रपति शिवाजी की मूर्ति लगी थी। उद्धव ठाकरे और उनकी पार्टी के दो मंत्रियों ने शिवाजी और बाल ठाकरे को याद करते हुए शपथ लिया। तीनों पार्टियों के विधायक दल के नेताओं को मंत्री पद की शपथ दिलाई गई।

इसे भी पढ़े :- सुप्रिया सुले ने ‘बाल ठाकरे, मीनाताई’ को याद किया

शिव सेना की ओर से एकनाथ शिंदे और सुभाष देसाई ने मंत्री पद की शपथ ली। एनसीपी की ओर से जयंत पाटिल और छगन भुजबल को मंत्री बनाया गया। एनसीपी नेता अजित पवार ने गुरुवार को दिन में ही साफ कर दिया था कि एनसीपी की ओर से यह तय नहीं हुआ है कि उप मुख्यमंत्री कौन होगा। इसलिए जयंत पाटिल ने मंत्री पद की ही शपथ ली। कांग्रेस की ओर से विधायक दल के नेता और महाराष्ट्र विधानसभा के सबसे वरिष्ठ सदस्य बाला साहेब थोराट और नितिन राउत ने मंत्री पद की शपथ ली।

शपथ ग्रहण समारोह में शिव सेना, एनसीपी और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मौजूद थे। उद्धव ठाकरे के भाई और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ने भी शपथ समारोह में हिस्सा लिया। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस भी समारोह में शामिल हुए। गौरतलब है कि 24 अक्टूबर को आए महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद एक महीने तक चले सियासी ड्रामे के बाद 23 नवंबर को राज्यपाल ने भाजपा के देवेंद्र फड़नवीस को मुख्यमंत्री और एनसीपी के अजित पवार को उप मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई थी। पर सुप्रीम कोर्ट की ओर से बहुमत साबित करने के लिए एक दिन का समय दिए जाने के बाद दोनों ने 26 नवंबर को इस्तीफ दे दिया।

फड़नवीस और अजित पवार के इस्तीफे के बाद उद्धव ठाकरे के मुख्यमंत्री बनने का रास्ता साफ हो गया। उद्धव ठाकरे शिव सेना, एनसीपी और कांग्रेस गठबंधन से बने महा विकास अघाड़ी का नेतृत्व करेंगे। वे राज्य के 18वें मुख्यमंत्री बने हैं। मुख्यमंत्री बनने वाले शिव सेना के वे तीसरे नेता हैं। उनसे पहले मनोहर जोशी और नारायण राणे 1995 से 1999 तक मुख्यमंत्री रहे थे।

इसे भी पढ़ें :- फड़नवीस को पार्टी में होगी मुश्किल!

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *