Murder after a dispute over jeans : जींस पहनने पर अड़ी थी नाबालिग...
देश | उत्तर प्रदेश | उत्तराखंड| नया इंडिया| Murder after a dispute over jeans : जींस पहनने पर अड़ी थी नाबालिग...

जींस पहनने पर अड़ी थी नाबालिग , चाचा और दादा ने मिलकर कर दी हत्या

Murder after a dispute over jeans :

देवरिया | Murder after a dispute over jeans : हाल ही में उत्तराखंड के पूर्व सीएम तीरथ सिंह रावत ने जब लड़कियों और महिलाओं के पहनावे खासकर जींस पर एक विवादित बयान दे दिया था. इसके बाद उनकी जमकर आलोचना हुई थी. उस समय कहा गया था कि जब जनप्रतिनिधियों की ही सोच ऐसी होगी तो आम लोगों की सोच पर कैसे सवाल किया जा सकते हैं. अब एक बार फिर से ऐसा ही एक मामला सामने आया है. जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के देवरिया में रहने वाले एक दादा और चाचा ने मिलकर अपनी भतीजी का कत्ल कर दिया क्यों कि वो अरनी जींस पहनने की जिद्द पर अडी थी. बताया जा रहा है कि पहले तो दादा और चाचा ने बच्ची को जींस ना पहनने के लिए कई बार समझाया लेकिन जब वो मानने को तैयार नहीं हुई तो हाथापाई को दौरान उसकी मौत हो गई .

Murder after a dispute over jeans :

लुधियाना से लौटी थी नाबालिग

Murder after a dispute over jeans : जानकारी के अनुसार कुछ दिनों पहले ही नाबालिग लुधियाना से लौटी थी. बताया जा रहा है कि नाबालिक लड़की लुधियाना में पढ़ाई करती थी और वहां पर वेस्टर्न ड्रेसेस पहनती थी. लेकिन गांव आने के बाद जब कुछ लोगों ने उसके पहनावे पर आपत्ति जताई तो चाचा और दादा उसके पीछे पड़ गए. उन्होंने कई बार नाबालिग बच्ची को समझाने की कोशिश की लेकिन जब वह नहीं मानी तो यह दोनों हाथापाई पर उतर गए. हाथापाई के दौरान उसे चोट लग गई और वह घर पर ही गिर गई और तड़पने लगी. इसके बाद अस्पताल ले जाने की वजह घर वालों ने उसे वहीं तड़पने के लिए छोड़ दिया. काफी देर तक रखने के बाद उसकी घर पर ही मौत हो गई.

इसे भी पढ़ें – Bihar: रुपए नहीं मिले तो गर्भवती पत्नी के कर डाले कई टुकडें, बूढ़ा बाप ढ़ूंढता रहा बेटी को इधर-उधर

Murder after a dispute over jeans :

पुल के नीचे शव फेंककर भागे घरवाले

बताया जा रहा है कि दादा और चाचा ने नाबालिग की मृत्यु के बाद उसके शव को ठिकाने लगाने के लिए पुल के नीचे फेंक दिया. इस दौरान कुछ राहगीरों ने उन्हें ऐसा करते हुए देख लिया था. बाद में राहगीरों ने ही पुलिस को इस बात की सूचना दी जिसके बाद पुलिस ने आकर खोजबीन शुरू की. पुलिस को कुछ घंटों में ही सारा माजरा समझ आ गया जिसके बाद दादा की गिरफ्तारी कर ली गई है और चाचा अभी फरार बताया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें- देर आए, दुरुस्त आए : सऊदी के इतिहास में पहली बार पवित्र “मक्का मस्जिद” में किसी ‘महिला सुरक्षाकर्मी’ की हुई तैनाती

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *