Monsoon 2021 Update: 31 मई को नहीं अब 3 जून तक केरल में दस्तक देगा Monsoon, लेकिन यहां बारिश ने मचाया कोहराम - Naya India
ताजा पोस्ट | देश| नया इंडिया|

Monsoon 2021 Update: 31 मई को नहीं अब 3 जून तक केरल में दस्तक देगा Monsoon, लेकिन यहां बारिश ने मचाया कोहराम

नई दिल्ली। Monsoon 2021 Update: मानसून का इंतजार कर रहे लोगों के लिए अच्छी खबर नहीं है. समय से पहले आने वाला मानसून (Monsoon) अब देरी से दस्तक देगा. भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, केरल में दक्षिण पश्चिम मानसून के आगमन में दो दिन की देरी हो सकती है. ऐसे में अब मानसून के 3 जून तक केरल पहुंचने का अनुमान है. इससे पहले मौसम विभान ने कहा था कि मानसून 31 मई से 1 जून के बीच केरल में पहुंच सकता है. हालांकि निजी एजेंसी स्काईमेट वेदर के मुताबिक मानसून केरल में दस्तक दे चुका है. लेकिन इस साल मानसून की शुरुआत बहुत कमजोर है.

ये भी पढ़ें:- बिहार में 12-15 जून के मध्य दस्तक देगा मानसून, सितंबर तक बरसेगा

Monsoon के विलंब को लेकर भारतीय मौसम विभाग (IMD) के महानिदेशक एम महापात्रा ने कहा कि कर्नाटक तटीय इलाके में चक्रवातीय परिसंचरण से मानसून के आगे बढ़ने में बाधा उत्पन्न हुई है. मौसम विभाग का मानना है कि एक जून से दक्षिण पश्चिमी हवाएं जोर पकड़ेगी और केरल में तीन जून तक मानसून दस्तक दे देगा. मानसून सामान्य रूप से एक जून तक केरल में दस्तक दे देता है. मौसम विभाग ने इस महीने की शुरुआत में केरल में 31 मई को मानसून के दस्तक देने का अनुमान जताया था.

ये भी पढ़ें:- Delhi में Unlock की प्रक्रिया आज से चालू, फिर भी व्यापारी नाखुश, जानें क्या खुलेगा

राजस्थान में तूफान ने मचाई तबाही, ओलावृष्टि से भारी नुकसान
वहीं दूसरी ओर राजस्थान में रविवार को कई जिलों में बारिश-आंधी (Thunderstorm) ने कोहराम मचाया है. पश्चिमी राजस्थान में श्रीगंगानगर जिले के कई गांवों में तूफान और ओलावृष्टि ने जमकर तबाही मचाई है. वहीं दूसरी ओर हनुमानगढ़ जिले में भी आंधी-तूफान ने हनुमानगढ़ जंक्शन इलाके में सोलर प्लेट गिर जाने से तीन लोग घायल हो गए. राजधानी जयपुर में भी अंधड़ ने लोगों को काफी परेशान किया. श्रीगंगानगर शहर सहित सूरतगढ़ में तेज आंधी और बारिश ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया. सूरतगढ उपखंड की हरदासवाली ग्राम पंचायत में बरसात के साथ जमकर ओलावृष्टि हुई. तूफान के चलते बड़ी संख्या में पेड़ गिर गए और गांवों में कई मकानों की कच्ची-पक्की दीवार भी तूफान में धराशायी हो गई. तेज बारिश और ओलावृष्टि के कारण नरमा तथा कपास की फसल को भी काफी नुकसान पहुंचा है.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow