nayaindia Meghalaya Assembly elections Rajeev Kumar
kishori-yojna
देश | दिल्ली| नया इंडिया| Meghalaya Assembly elections Rajeev Kumar

मेघालय में 27 फरवरी को मतदान

नई दिल्ली। आगामी मेघालय विधानसभा चुनाव (Meghalaya Assembly elections) के तहत 27 फरवरी को पूर्वोत्तर के इस राज्य में मतदान होगा जबकि मतगणना दो मार्च को होगी। मुख्य निर्वाचन आयुक्त (Chief Election Commissioner) राजीव कुमार (Rajeev Kumar) ने यहां आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में चुनाव से जुड़ी प्रमुख तिथियों की घोषणा की। मेघालय की 60 सदस्यीय विधानसभा का कार्यकाल 15 मार्च को समाप्त हो रहा है। राज्य में कुल मतदाताओं की संख्या 21 लाख के करीब है। कुमार ने बताया कि मेघालय विधानसभा चुनाव के लिए अधिसूचना 31 जनवरी को जारी होगी और नामांकन की आखिरी तारीख सात फरवरी होगी जबकि नामांकन वापस लेने की आखिरी तारीख 10 फरवरी होगी। उन्होंने बताया कि मतदान 27 फरवरी को होगा तथा दो मार्च को मतों की गिनती की जाएगी।

वर्तमान में मेघालय में नेशनल पीपुल्स पार्टी (National People Party) की अगुवाई में यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी (United Democratic Party), पीपुल्स डेमोक्रेटिक फ्रंट (People Democratic Front), भाजपा (BJP) तथा हिल स्टेट पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (Hill State People Democratic Party) की गठबंधन सरकार है और कोनराड संगमा इसका नेतृत्व कर रहे हैं।

हालांकि, आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर अभी तक किसी भी राजनीतिक दल ने गठबंधन बनाकर चुनाव लड़ने की घोषणा नहीं की है। वर्तमान में मेघालय विधानसभा में कुल 42 सदस्य हैं, जबकि 18 सीट अभी रिक्त हैं। इनमें एनपीपी के 20, यूडीपी के आठ, तृणमूल कांग्रेस के आठ, पीडीएफ और भाजपा के दो-दो, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का एक ओर एक निर्दलीय विधायक शामिल है।

मेघालय के पिछले चुनाव में किसी भी दल को बहुमत नहीं मिला था। कांग्रेस 21 सीट पर जीत दर्ज कर सबसे बड़ी पार्टी बनी थी, लेकिन वह बहुमत से दूर रह गई। कोनराड संगमा के नेतृत्व वाली एनपीपी 19 सीट पर जीत के साथ दूसरे नंबर पर थी। प्रदेश की यूडीपी के छह सदस्य चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे थे। इसी प्रकार राज्य की पीडीएफ को चार सीट पर जीत मिली थी और भाजपा तथा एचएसपीडीपी को दो-दो सीट पर सफलता मिली थी।

चुनावी नतीजों के बाद संगमा ने भाजपा, यूडीपी, पीडीएफ, एचपीपीडीपी और एक निर्दलीय के साथ मिलकर गठबंधन की सरकार बनाई और वह राज्य के मुख्यमंत्री बने। साल 2018 के विधानसभा चुनाव में एनपीपी और भाजपा के बीच गठबंधन था। इस बार के चुनाव में एनपीपी और भाजपा ने अलग-अलग चुनाव लड़ने की घोषणा की है। (भाषा)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × 4 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
जेसिंडा अर्डर्न भी एक प्रधानमंत्री हैं!
जेसिंडा अर्डर्न भी एक प्रधानमंत्री हैं!