nayaindia Aajam Khan SC SP : SC से आजम खान को राहत नहीं...
देश | उत्तर प्रदेश | ताजा पोस्ट| नया इंडिया| Aajam Khan SC SP : SC से आजम खान को राहत नहीं...

SC से आजम खान को राहत नहीं, जमानत पर फैसला सुरक्षित…

Aajam Khan SC SP :
Image Source : Social Media

नई दिल्ली | Aajam Khan SC SP : SC ने SP के कद्दावर नेता आजम खान के खिलाफ एक के बाद एक दर्ज मामलों को लेकर यूपी सरकार ने कहा कि ये एक अपराधी हैं और इन्हें जमानत नहीं मिलनी चाहिए. सुप्रीम कोर्ट ने फैसले को जमानत पर सुरक्षित रख दिया. वहीं दूसरी तरफ सपा नेता के वकील ने यूपी सरकार पर आरोप लगाया कि उनके मुवक्किल को राजनीतिक द्वेष में घसिटा जा रहा है. दोनों पक्ष की दलील सुनने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया. यूपी सरकार ने बताया कि वर्ष 2020 में मामले में FIR दर्ज हुई थी और 2022 में आज़म खान का नाम जोड़ा गया. कोर्ट ने पूछा कि आज़म खान का नाम जोड़ने के लिए शिकायतकर्ता ने दो साल का समय क्यों लगाया. वहीं दूसरी तरफ आज़म खान के वकील कहा यह FIR तब दर्ज हुई जब आज़म जेल में थे.

धमकी को कोर्ट में पढ़कर सुनाया…

Aajam Khan SC SP : उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से पेश एडिशनल सॉलिसिटर जनरल राजू ने कहा कि जब आज़म खान का बयान दर्ज किया जा रहा था तब उन्होंने जांच अधिकारी को धमकी दे दी. उसकी धमकी को एएसजी ने कोर्ट रूम में पढ़कर सुनाया. उन्होंने बताया की आज़म खान ने कहा था कि मैं अभी मरने वाला नहीं हूं. मेरी सरकार आएगी तो एक-एक का बदला लूंगा और तुम्हें भी इस जेल में आना होगा. मेरी सरकार आने दो देखो क्या हाल करता हूं, जिस SDM ने मेरे खिलाफ मुकदमा किया उसको छोडूंगा नहीं, मेरी सरकार आने दो.

इसे भी पढें-अब KKR की टीम से करबो, लड़बो और जीतबो की उम्मीद…

SC ने कहा- नेता ऐसा रोज कहते हैं…

Aajam Khan SC SP : सुप्रीम कोर्ट ने इस बयान पर कहा कि नेता तो रोज कहते है ये धमकी नहीं है. वहीं आज़म खान के वकील ने कहा आज़म खान दो साल से जेल में हैं, अब अगर उनको जमानत मिल जाए. वही दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश सरकार आज़म खान की न्यायिक जांच की मांग कर रहे हैं. यूपी सरकार ने कोर्ट में कहा कि आज़म खान एक अपराधी हैं. इनके खिलाफ कई शिकायतें दाखिल हुई हैं. उनकी ओर से दिए गए सारे दस्तावेज़ फर्जी हैं. उनको जमानत नहीं मिलनी चाहिए. वहीं दूसरी तरफ आज़म खान के वकील कपिल सिब्बल ने अपना पक्ष रखते हुए कहा किउनके मुवक्किल का उस स्कूल से कोई लेना-देना नहीं है. वह उस स्कूल को नहीं चलाते हैं, बस उसके चेयरमैन हैं. दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद जमानत पर फैसला सुरक्षित रख लिया.

इसे भी पढें- पीएम मोदी ने लॉन्च किया 5जी टेस्ट बेड, कहा-देश की अर्थव्यवस्था में 450 अरब डॉलर तक का योगदान…

Leave a comment

Your email address will not be published.

eighteen − one =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
नूपुर के खिलाफ लुकआउट नोटिस
नूपुर के खिलाफ लुकआउट नोटिस