Vasundhara समर्थक पूर्व मंत्री Rohitash Sharma को नोटिस, बोले- राजे मेरी नेता
ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान| नया इंडिया| Vasundhara समर्थक पूर्व मंत्री Rohitash Sharma को नोटिस, बोले- राजे मेरी नेता

Vasundhara के समर्थक पूर्व मंत्री Rohitash Sharma को नोटिस, बोले- राजे मेरी नेता, नहीं निकाल सकते हैं पार्टी से

Rohitash Sharma

जयपुर | राजस्थान में कांग्रेस ही नहीं भाजपा में भी वर्चस्व की लड़ाई अब जोर पकड़ने लगी है। जहां कांग्रेस में सीएम गहलोत और सचिन पायलट समर्थकों के दो गुट हो गए हैं। वहीं भाजपा भी दो गुटों में तब्दील हो चुकी है। जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) के समर्थक राजस्थान में किसी भी नए चेहरे को आगामी विधान सभा चुनावों में राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में नहीं देखना चाहते हैं। राजे के ये समर्थक चुनावों से पहले ही बयानबाजी कर रहे है और माहौल को गरमाने में लगे हैं।

15 दिन के अंदर मांगा जवाब
ऐसे में राजस्थान भाजपा में चल रही गुटबाजी के बीच भाजपा आलाकमानों ने अनर्गल बयानबाजी करने वाले नेताओं पर कार्रवाई करना शुरू कर दिया है। पूर्व विधायक और मंत्री रोहिताश शर्मा (Rohitash Sharma) को पार्टी ने नोटिस जारी कर दिया है और उनके विवादित बयान पर 15 दिन के अंदर जवाब मांगा है। अगर 15 दिन के अंदर रोहिताश शर्मा ने स्पष्टीकरण नहीं दिया तो मामला अनुशासन समिति को भेज दिया जाएगा। बता दें कि रोहिताश शर्मा को पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के काफी नजदीक माना जाता है। राजे सरकार में रोहिताश शर्मा मंत्री भी रह चुके हैं।

ये भी पढ़ें:- PM Modi Meeting On Kashmir : पीएम के बैठक में आमंत्रण नहीं मिलने से नाराज हैं कश्मीरी पंडितों के संगठन, जताया असंतोष

वसुंधरा राजे मेरी नेता, पार्टी से निकालने की हिम्मत नहीं
पार्टी के विरूद्ध विवादित बयानबाजी को लेकर नोटिस मिलने के बाद रोहिताश शर्मा ने बातचीत के दौरान कहा कि मुझे निजी स्वार्थों की पूर्ति के लिए नोटिस थमाया गया है। ये विनाश काले विपरीत बुद्धि का संकेत है। उन्होंने कहा कि नोटिस देने से पहले मुझे बुलाना चाहिए था। भैरो सिंह शेखावत हमारे आदर्श हैं, वसुंधरा राजे मेरी नेता हैं। भाजपा मेरी मां है, मां से बेटे को कोई अलग नहीं कर सकता। जिन्होंने नोटिस दिलवाया उनकी औकात नहीं कि मुझे पार्टी से निकाल सके।

गलती सुधारने का नहीं मिलेगा मौका
भाजपा में लगातार हो रही बयानबाजी को लेकर बुधवार को ही प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा था कि अब पार्टी ऐसे नेताओं को बिल्कुल नहीं छोड़ेगी, जो पार्टी को कमजोर करने का काम कर रहे हैं, उन्हें गलती सुधारने का मौका नहीं मिलेगा।

ये भी पढ़ें:- Political Battle in Rajasthan : Pilot गुट ने दिखाए तीखे तेवर, कहा- पायलट ‘बाहरी’ नहीं बल्कि, ‘भारी नेता’, BJP ने भी दिया साथ

अपशब्दों का प्रयोग कर संगठन को पहुंचाई क्षति
Rohitash Sharma को भेजे गए नोटिस में उन पर आरोप लगाए गए हैं कि उन्होंने संघ और भाजपा संगठन पर सार्वजनिक रूप से कई अनर्गल बयानबाजी की है। प्रदेश के पदाधिकारियों के लिए अपशब्द का प्रयोग किया है। इन बयानों से भाजपा संगठन को क्षति पहुंची है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *