Parliament Winter Session ​: जिला कोर्ट या सुप्रीम कोर्ट में भी कम से कम...
ताजा पोस्ट | देश| नया इंडिया| Parliament Winter Session ​: जिला कोर्ट या सुप्रीम कोर्ट में भी कम से कम...

Parliament : निलंबित होने के बाद फूटा शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी का गुस्सा, कहा- जिला कोर्ट या सुप्रीम कोर्ट में भी कम से कम…

this member suspended

नई दिल्ली | Parliament Winter Session : शीतकालीन सत्र के पहले ही दिन राज्यसभा के 12 सांसदों को पूरे सदन के लिए निलंबित कर दिया गया. निलंबित करते हुए कहां गया कि मानसून सत्र के दौरान उन्होंने अनुशासनहीनता दिखाई दे संबंध में यह कार्रवाई की गई है. निलंबित होने वाले सांसदों में शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी और टीएमसी सांसद डोला सेन के भी नाम है. इसके साथ ही सीपीएम के ऐला राम करीम, कांग्रेस की फूलों देवी,छाया वर्मा, आर बोरा, राजमणि पटेल, सैयद नासिर हुसैन और अखिलेश प्रसाद सिंह को भी निलंबित किया गया है. निलंबित किए जाने के बाद सांसदों ने बाहर निकलते समय मीडिया के सामने अपनी नाराजगी व्यक्त की.

हमारा पक्ष ही नहीं सुना गया

Parliament Winter Session ​: शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि हमें अपना पक्ष रखने का मौका ही नहीं दिया गया. उन्होंने कहा कि जिला कोर्ट या सुप्रीम कोर्ट कम से कम एक आरोपी को वहां भी सुना जाता है और उनके लिए वकील उपलब्ध कराए जाते हैं. यदि यह संभव नहीं हो पाता तो कभी-कभी सरकारी अधिकारियों को उनके पास भेज कर उनका पक्ष लिया जाता है. लेकिन यहां तो हमारा पक्ष नहीं लिया गया यह कई मायने में लोकतंत्र की हत्या है. निलंबन के बाद प्रियंका चतुर्वेदी इस कार्रवाई से खासा नाराज दिखाई दीं.

इसे भी पढ़ें –Match Drawn : भारत के हाथ को आया, लेकिन मुंह नहीं लगा : न्यूजीलैंड की आखिरी जोड़ी ने बचा लिया मैच…

Parliament Winter Session ​: निलंबन के बाद कांग्रेस की राज्यसभा सांसद छाया वर्मा ने भी अपनी नाराजगी जाहिर की. छाया ने कहा कि यह निलंबन ना केवल अनुचित है बल्कि अन्यायपूर्ण भी है. उन्होंने कहा कि हंगामा करने वाले में दूसरे दलों के अन्य सदस्य भी शामिल थे लेकिन अध्यक्ष ने मुझे ही निलंबित किया है. सांसद छाया ने कहा कि ऐसा लगता है कि पीएम मोदी जैसा चाहते हैं वही किया जाता है क्योंकि उनके पास भारी संख्या में बहुमत है. बता देगी जारी की गई सूचना में कहा गया है कि मानसून सत्र के आखिरी दिन कुछ सांसदों ने हिंसक व्यवहार किया और संसद के सौहार्द को बिगाड़ने का काम किया. सदन की गरिमा को ठेस पहुंचाने के कारण निलंबित किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें-#ShashiTharoor : महिला सांसदों के साथ तस्वीर डाल, सांसद शशि थरूर ने लिखा कुछ ऐसा कि हो गया विवाद…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
पंजाब में लड़कियां क्या नहीं लड़ सकतीं!
पंजाब में लड़कियां क्या नहीं लड़ सकतीं!