Somnath Temple Projects: सोमनाथ में कई परियोजनाओं का शुभारंभ
ताजा पोस्ट | देश| नया इंडिया| Somnath Temple Projects: सोमनाथ में कई परियोजनाओं का शुभारंभ

Prime Minister Narendra Modi आज सोमनाथ में करेंगें कई परियोजनाओं का शुभारंभ

सोमनाथ | Somnath Temple Projects: देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) आज गुजरात के सोमनाथ मंदिर (Somnath Temple) के लिए कई सौगातें देने जा रहे है। पीएम मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए गुजरात के सोमनाथ में कई परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करने वाले है। इस दौरान पीएम मोदी श्री पार्वती मंदिर की आधारशिला रखेंगे। इसी के साथ पीएम सोमनाथ सैरगाह, सोमनाथ प्रदर्शनी केंद्र और पुराने सोमनाथ का पुनर्निर्मित मंदिर परिसर में कई परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे। इस अवसर पर केंद्रीय गृह मंत्री, केंद्रीय पर्यटन मंत्री, गुजरात के मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री भी उपस्थित रहेंगे।

ये भी पढ़ें :- महर्षि मेधा के इस त्याग के कारण एकादशी के दिन चावल खाने से मना किया जाता है, जानें पूरी कहानी

श्री पार्वती मंदिर निर्माण में 30 करोड़ रुपये प्रस्तावित
Somnath Temple Projects: सोमनाथ में पीएम मोदी आज श्री पार्वती मंदिर की आधारशिला रखने जा रहे हैं। श्री पार्वती मंदिर का निर्माण 30 करोड़ रुपये के कुल परिव्यय से किया जाना प्रस्तावित है। इसमें सोमपुरा सलात शैली में मंदिर का निर्माण, गर्भ गृह और नृत्य मंडप आदि का विकास किया जाना प्रस्तावित है। सोमनाथ सैरगाह को ‘प्रसाद योजना’ के तहत 47 करोड़ रुपये से भी ज्यादा लागत से विकसित किया गया है।

ये भी पढ़ें :- Jammu-Kashmir के राजौरी में सेना का JCO शहीद, सुरक्षाबलों ने मार गिराया एक आतंकी

‘अहिल्याबाई मंदिर’ में 3.5 करोड़ रुपये व्यय
गुजरात के पुराने सोमनाथ के पुनर्निर्मित मंदिर परिसर जिसे ‘अहिल्याबाई मंदिर’ के रूप में भी जाना जाता है, के खंडहर में तब्दील हो जाने के बाद श्री सोमनाथ ट्रस्ट ने 3.5 करोड़ रुपये के कुल परिव्यय करके पुनर्निर्मित करवाया गया है। इस मंदिर को इंदौर की रानी अहिल्याबाई द्वारा बनवाया गया था।

ये भी पढ़ें :- कुलगाम में आतंकियों का दुस्साहस! अब ‘Apni Party’ के नेता को गोली से उड़ाया, इससे पहले की थी दो BJP नेआतों की हत्या

सोमनाथ आने वाले तीर्थयात्रियों के लिए बढ़ेगी मंदिर की क्षमता
गुजरात के सोमनाथ में तीर्थयात्रियों की सुरक्षा के पुख्ता इंतेजाम और यात्रियों की क्षमता बढ़ाने के लिए संपूर्ण पुराने मंदिर परिसर का पुनर्विकास किया गया है।

ये भी पढ़ें :- इस रक्षाबंधन पर बांधे अपने इष्ठ-देवताओं को राखी, जीवन भर रहेंगे सुरक्षित, नहीं आएगी कोई समस्या..

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
100 करोड़ के पार वैक्सीनेशन
100 करोड़ के पार वैक्सीनेशन