nayaindia Polygamy For Women In SA : दक्षिण अफ्रीका में इस प्रस्ताव के कारण विवाद....
देश | विदेश| नया इंडिया| Polygamy For Women In SA : दक्षिण अफ्रीका में इस प्रस्ताव के कारण विवाद....

Polygamy For Women In SA : इस देश में महिलाओं के कई विवाह के प्रस्ताव से मचा बवाल,जानें क्या दिये जा रहे हैं तर्क …

Polygamy For Women In SA :

नई दिल्ली | Polygamy For Women In SA : हमने कई बार सुना है कि राजा-महाराजा कई पत्नियां रखा करते थे. पुराने समय की बात और थी लेकिन अब एक देश में महिलाओं को कई पति रखने की आजादी देने की तैयारी की जा रही है. इसके लिए प्रस्ताव भी लाया जा चुका है. दक्षिण अफ्रीका के लोग इस प्रस्ताव पर दो खेमों में बटते हुए दिखाई दे रहे हैं. इनमें से एक महिलाओं के बहुविवाह के प्रस्ताव के पक्ष में हैं. वहीं दूसरा खेमा इसके विरोध में खड़ा हो गया. दक्षिण अफ्रीका में इस प्रस्ताव के कारण सोशल मीडिया से लेकर आम लोगों तक में ये एक विवाद का मुद्दा बन गया है. यहां ये स्पष्ट कर दें कि दक्षिण अफ्रीका में पुरुषों को एक से ज्यादा विवाह करने की आजादी है. इसका साफ अर्थ है कि दक्षिण अफ्रीका में पुरुष एक से ज्यादा पत्नियां रख सकता है. इस प्रस्ताव की तरफदारी कर रहे लोगों के तर्क भी इसी पर आधारित हैं. लोगों का कहना है कि संविधान में बराबरी बनाए रखने के लिए इस प्रस्ताव को मंजूरी मिलनी चाहिए.

Polygamy For Women In SA :

विरोध करने वालों के ये हैं तर्क

Polygamy For Women In SA : महिलाओं के बहुविवाह प्रस्ताव का विरोध करने वाले लोगों की संख्या भी कम नहीं है. इन लोगों का कहना है कि यदि यह प्रस्ताव मंजूर कर लिया जाता है तो आने वाले समय में कई तरह की परेशानियां उत्पन्न हो जाएंगी. लोगों का कहना है कि यदि महिलाएं एक से ज्यादा विवाह करेंगी तो उनसे जुड़े सरनेम रखने की उम्मीद करना संभव हो पाएगा. इसके साथ ही महिलाओं के एक से अधिक शादी करने पर सबसे बड़ी परेशानी होगी कि कौन किसके बच्चे हैं, इसे समझने के लिए हर बार डीएनए टेस्ट कराना होगा. इस प्रस्ताव का विरोध करने वाले कुछ लोगों का यह भी कहना है कि इससे समाज पर बुरा प्रभाव पड़ेगा.

इसे भी पढ़ें – Election से पहले Bihar में खूनी खेल! दिनदहाड़े मुखिया के भाई को गोलियों से किया छलनी

Polygamy For Women In SA :

तिब्बत में पहले से है महिलाओं के बहुविवाह की प्रथा

Polygamy For Women In SA : बता दें कि जिस बहुविवाह के प्रस्ताव से दक्षिण अफ्रीका में बवाल मच गया है. तिब्बत में काफी अरसे से इसे मान्यता मिल रखी है. हालांकि यहां इसे पत्नी साझा करने की प्रथा के रूप में देखा जाता है. इस प्रथा के तहत यदि परिवार में दो या तीन भाई हैं तो उनकी पत्नियां एक ही होगी. यहां इस प्रथा के पीछे का कारण तिब्बत का छोटा देश होना है. कहा जाता है कि खेती किसानी करने वाले परिवारों में जब जमीन जायदाद का बंटवारा होता है तो संपत्ति के टुकड़ों में बंट जाती है. इसी कारण परिवार के भरण-पोषण में परेशानियों का सामना करना पड़ता है. इस व्यवस्था से संपत्ति और जमीन के टुकड़े भी नहीं होते. हालांकि विवाह संबंधी रस्मो रिवाज किसी एक बेटे के साथ ही संपन्न किए जाते हैं.

इसे भी पढ़ें- प्रियंका गांधी से नवजोत सिंह सिद्धू की मुलाकात पर ली चुटकी, कहा – गुमराह मिसाइल हैं सिद्धू , कोई नहीं कर सकता कंट्रोल

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three + two =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
अभिनेता से नेता बने परेश रावल! चुनाव प्रचार में बोल गए कुछ ऐसा, मच गया बवाल
अभिनेता से नेता बने परेश रावल! चुनाव प्रचार में बोल गए कुछ ऐसा, मच गया बवाल