nayaindia नई दिल्ली जंतर-मंतर पर नरेंद्र निकेतन को तोड़ने के खिलाफ धरना - Naya India
देश | दिल्ली| नया इंडिया|

नई दिल्ली जंतर-मंतर पर नरेंद्र निकेतन को तोड़ने के खिलाफ धरना

नई दिल्ली।  दिल्ली स्थित जंतर-मंतर पर नरेंद्र निकेतन ढ़ाहे जाने के विरोध में एक दिवसीय धरना का आयोजन हुआ। धरना को संबोधित करते हुए स्वामी अभिषेक ब्रह्मचारी ने कहा की नरेंद्र निकेतन पर हमला चंद्रशेखर की आत्मा पर हमला है।

स्वामी अभिषेक ब्रह्मचारी ने कहा की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इशारे पर नरेंद्र निकेतन को गलत तरीक़े से तोड़ा गया है। स्वामी अभिषेक ब्रह्मचारी ने कहा की लोकतांत्रिक देश में इस प्रकार की घटना निंदनीय है।

युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक रोहित कुमार सिंह ने कहा की सत्ता के नशे में धुत भाजपा के नेताओं ने चंद्रशेखर के विचारों का वध कर दिया। सिंह ने कहा की चंद्रशेखर की नर्सरी से निकले नेता हर दल में हैं परंतु किसी ने इस घटना का विरोध नहीं किया। सिंह ने कहा की राज्यसभा के लोभ में कुछ लोग चुप हैं इतिहास उन्हें माफ नहीं करेगा।

सिंह ने कहा की बलिया,पूर्वांचल और चंद्रशेखर के लोगों से नरेंद्र निकेतन के पुनर्निर्माण हेतु संगठित होने की अपील की। सिंह ने कहा की राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश जी के पुस्तक विमोचन के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जेपी को बिहार का बताया था उस समय बलिया के कुछ युवाओं ने भृगु बाबा की जय का उद्घोष किया था।

उसी दिन मुझे लगा की पीएम नरेंद्र मोदी चंद्रशेखर के इतिहास के साथ छेड़-छाड़ करेंगे। सिंह ने कहा की चंद्रशेखर जी ने प्रमाणित रूप से बताया था की जेपी बलिया के थे। सिंह ने कहा की युवा चेतना चंद्रशेखर के विचारों पर चलने हेतु संकल्पित है और नरेंद्र निकेतन के पुनर्निर्माण हेतु तन,मन और धन से समर्पित हैं।धरना को श्याम जी त्रिपाठी,सादात अनवर,राकेश गामा,अमित सिंह,राघवेंद्र प्रताप सिंह गोलू,ब्रजेश शुक्ला आदि उपस्थित रहे।

Leave a comment

Your email address will not be published.

seven − 1 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
विश्व बैंक पंजाब को 15 करोड़ डालर का ऋण देगा
विश्व बैंक पंजाब को 15 करोड़ डालर का ऋण देगा