भारत ने लांच किए दस सेटेलाइट - Naya India
देश | समाचार मुख्य| नया इंडिया|

भारत ने लांच किए दस सेटेलाइट

श्रीहरिकोटा। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन, इसरो ने बुधवार को दोपहर बाद साढ़े तीन बजे से थोड़ा पहसे भारतीय उपग्रह रीसैट-2बीआर1 और चार अन्य देशों के नौ सेटेलाइट लांच किए। यह प्रक्षेपण पीएसएलवी-सी48 रॉकेट के जरिए आंध्र प्रदेश स्थित श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से किया गया। रीसैट-2बीआर1 रडार इमेजिंग अर्थ ऑब्जर्वेशन सेटेलाइट है। यह बादलों और अंधेरे में भी साफ तस्वीरें ले सकता है। अर्थ इमेजिंग कैमरे और रडार तकनीक के चलते यह मुठभेड़ या घुसपैठ के समय सेना के लिए मददगार होगा।

रीसैट-2बीआर1 और चार अन्य देशों के नौ सेटेलाइट सफलतापूर्वक अपने संबंधित कक्षा में स्थापित कर दिए गए। रीसैट-2बीआर1 पांच साल तक काम करेगा। इससे रडार इमेजिंग कई गुना बेहतर हो जाएगी। इसमें 0.35 मीटर रिजोल्यूशन का कैमरा है, यानी यह 35 सेंटीमीटर की दूरी पर स्थित दो चीजों की अलग-अलग और स्पष्ट पहचान कर सकता है।

यह सीमावर्ती इलाकों में आतंकी गतिविधियों और घुसपैठ पर नजर रखेगा। इससे तीनों सेनाओं और सुरक्षा बलों को मदद मिलेगी। इसका वजन 628 किलोग्राम है। इसरो रीसैट सीरीज के अगले उपग्रह रीसैट-2बीआर2 की लांचिंग भी इसी महीने करेगा। इसके बाद एक और सेटेलाइट लांच किया जाएगा। हालांकि, इनकी तारीख अभी तय नहीं है। सुरक्षा एजेंसियों को एक दिन में किसी एक जगह पर लगातार निगरानी के लिए अंतरिक्ष में कम से कम चार रीसैट की जरूरत है। किसी एनकाउंटर या घुसपैठ के समय ये चारों सेटेलाइट उपयोगी होंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
यूपी में टिकटों की राजनीति में उलझी भाजपा! अब धर्म सिंह सैनी ने भी छोड़ा साथ, अब तक इन 14 नेताओं ने दिया इस्तीफा
यूपी में टिकटों की राजनीति में उलझी भाजपा! अब धर्म सिंह सैनी ने भी छोड़ा साथ, अब तक इन 14 नेताओं ने दिया इस्तीफा