nayaindia Kota Rahul Gandhi Jairam Ramesh कांग्रेस का ‘जियो और जीने दो’ में विश्वास: रमेश
kishori-yojna
ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान| नया इंडिया| Kota Rahul Gandhi Jairam Ramesh कांग्रेस का ‘जियो और जीने दो’ में विश्वास: रमेश

कांग्रेस का ‘जियो और जीने दो’ में विश्वास: रमेश

कोटा (राजस्थान)। वरिष्ठ कांग्रेस (Congress) नेता और राज्यसभा सदस्य जयराम रमेश (jairam Ramesh) ने बुधवार को कहा कि कांग्रेस एक लोकतांत्रिक पार्टी है और वह हमेशा ‘जियो और जीने दो’ (live and let live) में विश्वास करती रही है।

‘भारत जोड़ो यात्रा’ (Bharat Jodo Yatra) में शामिल रमेश ने कोटा के पास मंदान में संवाददाताओं के एक सवाल के जवाब में कहा, ‘हमारी पार्टी में अलग अलग विचार के लोग हैं। भय व डर का कोई माहौल नहीं है। हमारे ही नेता कभी कभी हमारी ही पार्टी की आलोचना करते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस एक लोकतांत्रिक पार्टी हैं, अलग अलग विचार के लोग हैं। कांग्रेस पार्टी हमेशा ‘जियो और जीने दो’ में विश्वास रखती है।’ उन्होंने कहा कि ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के पिछले 90 दिनों में अब तक करीब 76 संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने राहुल गांधी के साथ दोपहर में बैठकर मुलाकात की। यह मुलाकात आधे से पौने घंटे चलती हैं। इसमें राहुल उनके विचार सुनते हैं। इसके साथ, इस दौरान 158 संस्था प्रतिनधि सुबह व दोपहर में राहुल गांधी के साथ पैदल चले हैं।

रमेश ने कहा कि ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में नौ दिसंबर को विश्राम का दिन है। वहीं 10 दिसंबर को पदयात्रा में राहुल गांधी के साथ केवल महिला यात्री ही चलेंगी। इसमें पार्टी की महिला कार्यकर्ता, महिला पदाधिकारी व जनप्रतिनिधि एवं अन्य भाग ले सकती हैं। इससे पहले भी यात्रा में दो दिन केवल महिला यात्रियों के लिए रखे गए थे।

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस शासित राजस्थान में कोटा पुलिस ने उन लोगों की पहचान करने का आदेश जारी किया है, जो कांग्रेस नेता राहुल गांधी को उनके कृषि ऋण माफी के वादे के लिए ज्ञापन सौंपना चाह रहे थे। गांधी को ज्ञापन सौंपने की मांग कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं पर मंगलवार को पुलिस ने कथित रूप से लाठीचार्ज किया था।

जब कांग्रेस लोकतंत्र को बचाने के लिए मुद्दे उठा रही है, ऐसे समय में पुलिस कार्रवाई के बारे में पूछे जाने पर रमेश ने कहा कि कांग्रेस एक लोकतांत्रिक पार्टी है, जिसके अलग-अलग विचार हैं। कोटा में यात्रा के प्रस्तावित संवाददाता सम्मेलन को रद्द किए जाने को इस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल को दंडित किए जाना बताए जाने पर रमेश ने कहा, ‘इसमें कोई राजनीति नहीं है। मैं बार बार दोहराउंगा इसमें कोई साजिश नहीं है। परिस्थितियों के अनुसार हमें कार्यक्रम में बदलाव करना पड़ता है। व्यवस्था में अंतिम समय में भी बदलाव होते रहे हैं।’ इसके साथ ही उन्होंने कहा, मैंने कभी कोटा में संवाददाता सम्मेलन होने की घोषणा नहीं की थी। यह गलत जानकारी है।

उल्लेखनीय है कि 25 सितंबर को जयपुर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत समर्थक विधायकों ने कांग्रेस विधायक दल की आधिकारिक बैठक में शामिल न होकर धारीवाल के निवास पर समानांतर बैठक की। रमेश ने कहा कि राजस्थान में अलवर में 19 दिसंबर को रैली होगी जबकि इससे पहले 18 दिसंबर को राहुल गांधी संवाददाता सम्मेलन करेंगे।

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × four =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
राहुल की यात्रा से कांग्रेस का भला नहीं!
राहुल की यात्रा से कांग्रेस का भला नहीं!