nayaindia Bhilwara Rajasthan girls NCPCR राजस्थानः लापता बालिकाओं का पता लगाने के निर्देश
kishori-yojna
देश | राजस्थान| नया इंडिया| Bhilwara Rajasthan girls NCPCR राजस्थानः लापता बालिकाओं का पता लगाने के निर्देश

राजस्थानः लापता बालिकाओं का पता लगाने के निर्देश

भीलवाड़ा। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (National Commission for Protection of Child Rights) ने भीलवाड़ा जिले के दो गांवों का सोमवार को दौरा किया जहां 34 बालिकाएं (girls) लापता मिली और आयोग ने इनका पता लगाने के निर्देश दिए हैं। भीलवाड़ा जिले में स्टाम्प पर बालिकाओं को बेचने के मामले की जांच के लिए भीलवाड़ा आये प्रियंक कानूनगो (Priyank Kanungo) जहाजपुर क्षेत्र के ईटून्दा गांव पहुंचे जहां उन्होंने स्कूल और आंगनबाड़ी का जायजा लिया और वहां का डाटा देखा कि स्कूल में कितनी बालिकाओं का नाम दर्ज है और कितनी आंगनबाड़ी आ रही है और जो नहीं आ रही है वे कब से वहां नहीं आ रही है। जो बालिकाएं नहीं आ रही थी उनमें से कई बालिकाओं के मकानों पर श्री कानूनगो पहुंचे और उनके बारे में पता किया लेकिन वहां भी उनके बारे में कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला। ऐसे में इन बालिकाओं को लापता मानकर इनका पता लगाने के निर्देश प्रशासन और पुलिस अधिकारियों को दिए गए है। इसी तरह श्री कानूनगो जिले के धौड़ गांव पहुंचे और इन दोनों गांवों में 34 बालिकाएं नहीं मिली है, जिन्हें ढूंढकर पता लगाने को कहा गया है।

राज्य बाल आयोग के पूर्व सदस्य शैलेन्द्र पाण्डे ने बताया कि श्री कानूनगो ने इस मामले को गंभीरता से लिया है और इन दोनों गांवों के बाद अब वह पण्डेर जायेंगे जहां स्टाम्प पर बेची गई बालिकाओं के मामले के बारे में जांच पड़ताल करेंगे। उल्लेखनीय है कि पण्डेर में जिन बालिकाओं को बेचे जाने की बात सामने आई थी, वह मामला जांच पड़ताल में वर्ष 2019 का निकला है और जिला कलक्टर आशीष मोदी एवं पुलिस अधीक्षक आदर्श सिधू ने संयुक्त रूप से प्रेस कांफ्रेस कर खुलासा किया था कि इस मामले में पहले ही 25 आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है। यह मामला नया नहीं है। वहीं हाल में मांडलगढ़ क्षेत्र में स्टाम्प पर युवतियों के बेचने की भी शिकायत मिली थे लेकिन जांच पड़ताल में युवतियों ने खुद ही पुलिस के सामने उपस्थित होकर साफ किया कि उन्हें किसी ने नहीं बेचा है।

पुलिस विभाग ने इस संबंध में दो दिन पहले एक प्रेस नोट जारी कर इस बात का खुलासा किया था कि तीन में से दो महिलाओं से पूछताछ हो चुकी है और ऐसा कोई साक्ष्य नहीं मिला जिसमें उन्हें बेचे जाने की जानकारी हो। जबकि एक महिला दूरस्थ प्रदेश में होने से यहां नहीं पहुंच पाई।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four − three =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
श्रीरामचरित मानस के बाद अखिलेश से मिले मौर्य
श्रीरामचरित मानस के बाद अखिलेश से मिले मौर्य