nayaindia Rajasthan Jhalawar Congress Jairam Ramesh Rahul Gandhi ‘भारत जोड़ो यात्रा’ व्यक्ति विशेष नहीं बल्कि सामूहिक प्रयास: जयराम रमेश
kishori-yojna
देश | राजस्थान| नया इंडिया| Rajasthan Jhalawar Congress Jairam Ramesh Rahul Gandhi ‘भारत जोड़ो यात्रा’ व्यक्ति विशेष नहीं बल्कि सामूहिक प्रयास: जयराम रमेश

‘भारत जोड़ो यात्रा’ व्यक्ति विशेष नहीं बल्कि सामूहिक प्रयास: जयराम रमेश

झालावाड़ (राजस्थान)। कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश (Jairam Ramesh) ने सोमवार को कहा कि पार्टी की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ (Bharat Jodo Yatra) किसी व्यक्ति विशेष की यात्रा नहीं, बल्कि यह सामूहिक प्रयास है। उन्होंने कहा कि यह ‘चुनाव जिताओ’ यात्रा नहीं है लेकिन इसका फायदा संगठन को मिल रहा है।

यात्रा के साथ राजस्थान पहुंचे रमेश ने बाली बोरड़ा में संवाददाताओं से कहा, ‘भारत जोड़ो यात्रा’ किसी एक व्यक्ति की यात्रा नहीं है, यह एक सामूहिक प्रयास है… संगठन को मजबूत करने के लिए, भारतीय राजनीति को एक नई दिशा देने के लिए व हमारे देश के समक्ष आई चुनौतियों का मुकाबला करने के लिए।’

कांग्रेस नेता ने कहा, सवाल उठाया जा रहा है कि भारत टूट नहीं रहा है तो कांग्रेस पार्टी क्यों भारत जोड़ो यात्रा निकाल रही है, तीन मुद्दे हैं, तीन चुनौतियां हैं। प्रधानमंत्री की नीयत और प्रधानमंत्री की नीतियों के कारण भारत के टूटने की संभावना बढ़ गई है। आर्थिक विषमताएं बढ़ गई हैं। महंगाई, बेरोजगारी, जीएसटी (सकल घरेलू उत्पाद), विषमताएं बढ़ रही हैं। इससे हम कमजोर हो रहे हैं और भारत के टूटने की संभावना बढ़ी है.. खतरा है।’

रमेश ने कहा, ‘दूसरी चुनौती सामाजिक ध्रुवीकरण है। सामाजिक ध्रुवीकरण को जानबूझकर चुनावी फायदे के लिए प्रोत्साहन दिया जा रहा है। धर्म के नाम पर, भाषा के नाम पर, जाति के नाम पर और प्रांत के नाम पर विभाजनकारी विचारधारा को प्रोत्साहित किया गया है। इससे भी भारत को खतरा है।’ उन्होंने कहा, तीसरी बात यह है कि राजनीतिक तानाशाही हकीकत बन गई है। और इस राजनीतिक तानाशाही का नतीजा है-‘एक राष्ट्र, एक व्यक्ति’। एक ही व्यक्ति को सारे राजनीतिक अधिकार दिए जा रहे हैं और संविधान को नजरअंदाज किया जा रहा है और संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर किया जा रहा है। इन तीन खतरों के खिलाफ आवाज उठाने के लिए यह यात्रा शुरू की गई है।

रमेश ने ‘भारत जोड़ो यात्रा’ को सामूहिक प्रयास बताते हुए कहा कि इसका प्रत्यक्ष असर कांग्रेस संगठन पर हो रहा है। उन्होंने कहा, ‘यह चुनाव जिताओ यात्रा नहीं है … हम उम्मीद करते हैं कि इससे संगठन मजबूत एवं सक्रिय होगा और इसका फायदा हमें चुनाव में मिल सकता है।’

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस शासित राजस्थान में पार्टी नेता राहुल गांधी की अगुवाई वाली ‘भारत जोड़ो यात्रा’ सोमवार सुबह शुरू हुई। सुबह यह लगभग 14 किलोमीटर की दूरी तय करने के बाद बाली बोरदा चौराहा पहुंची।

कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ आठ सितंबर को कन्याकुमारी से शुरू हुई थी। पहली बार यह यात्रा किसी कांग्रेस शासित राज्य में पहुंची है। यात्रा 21 दिसंबर को हरियाणा में प्रवेश करने से पहले 17 दिनों में झालावाड़, कोटा, बूंदी, सवाई माधोपुर, दौसा और अलवर जिलों से गुजरते हुए लगभग 500 किलोमीटर दूरी तय करेगी। इस दौरान राहुल गांधी 15 दिसंबर को दौसा के लालसोट में किसानों के साथ संवाद करेंगे और 19 दिसंबर को अलवर के मालाखेड़ा में एक जनसभा को संबोधित करेंगे। (भाषा)

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seven − 1 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
भरत सिंह करेंगे विधानसभा का बहिष्कार
भरत सिंह करेंगे विधानसभा का बहिष्कार