• डाउनलोड ऐप
Friday, May 14, 2021
No menu items!
spot_img

Rajasthan : मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने Coronavirus के बढ़ने के कारण लॉकडाउन जैसा संयमित व्यवहार करने की अपील की

Must Read

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने देश एवं प्रदेश में वैश्विक महामारी Corona की दूसरी लहर के बढ़ने के मद्देनजर प्रदेशवासियों से Lockdown की तरह संयमित व्यवहार करने की अपील करते हुए कहा है कि इससे लोगों को बचाने के लिए राज्य सरकार कोई कमी नहीं रखेगी।

Gehlot कल (मंगलवार) शाम मुख्यमंत्री निवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए प्रदेश में Corona संक्रमण की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि Corona की यह दूसरी लहर पहले से भी अधिक घातक और खतरनाक बनती जा रही है। लोग इसकी भयावहता को समझें और वैसा ही व्यवहार करें, जैसा उन्होंने पहली बार लगाए गए Lockdown के समय किया था। क्योंकि आंकड़े एवं अध्ययन बता रहे हैं कि दूसरी लहर में वायरस का प्रभाव, संक्रमण की रफ्तार तथा मृत्यु की दर पहले से कई गुना अधिक घातक है।

इसे भी पढ़ें :-Corona Initiative : अस्पताल में ऑक्सीजन पर आश्रित मरीजों को दी जायेगी रेमडेसिविर, Remedisvir की कमी नहीं

मुख्यमंत्री ने Corona संक्रमित रोगियों की संख्या में बढ़ोत्तरी के मद्देनजर किसी भी स्थिति का आकलन कर चिकित्सा सुविधाओं के विस्तार में कोई कसर नहीं छोड़ने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि डेडीकेटेड कोविड केयर अस्पतालों, डे-केयर सेन्टर, पोस्ट कोविड केयर सेन्टर, ऑक्सीजन एवं आईसीयू बैड, दवाओं सहित अन्य चिकित्सकीय सुविधाएं और बढाई जाएं।

बैठक में चिकित्सा विशेषज्ञों ने सुझाव दिया कि देश-प्रदेश में जिस तेजी से संक्रमित रोगियों की संख्या, पॉजिटिविटी रेट और मृत्युदर बढ़ रही है। उसे देखते हुए राज्य में सामाजिक-धार्मिक एवं सांस्कृतिक गतिविधियों को सीमित करने, curfew का समय बढ़ाने, विवाह एवं अन्य समारोह में लोगों की संख्या कम करने, कार्यस्थलों पर कार्मिकों की उपस्थिति घटाने, सार्वजनिक परिवहन में यात्री संख्या कम करने सहित Lockdown के समान कड़े एवं प्रभावी कदम उठाना जरूरी है।

इसे भी पढ़ें :-Rajasthan :  यहां मिल रहे हैं हर दो मिनट में कोरोना मरीज, हालात हो सकते हैं बेकाबू

Gehlot ने इस पर गृह विभाग के प्रमुख शासन सचिव अभय कुमार को निर्देश दिए कि वह इन सुझाव के मद्देनजर जरूरी गाइडलाइन तैयार करें। उन्होंने कहा कि संक्रमण रोकने के लिए कड़े कदम उठाना जरूरी है। आमजन को इससे कुछ तकलीफ हो सकती है, लेकिन जीवन रक्षा सर्वाेपरि है।

चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा (Dr. Raghu Sharma) ने कहा कि संक्रमण के प्रसार को रोकने में चिकित्सा विभाग अन्य विभागों के साथ पूरी मुस्तैदी से जुटा है। कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन सपोर्ट सिस्टम, ICU bed, ventilator सहित अन्य सुविधाओं को और मजबूत किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें :-समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष Akhilesh Yadav कोरोना पॉजिटिव, होम आइसोलेशन में इलाज शुरू

शिक्षा राज्यमंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasara) ने कहा कि पहली लहर के खतरे को भांप कर मुख्यमंत्री ने समयानुकूल कड़े निर्णय लिए थे, इसी का असर रहा कि राजस्थान Corona की लड़ाई में सबसे आगे रहा। संक्रमण की विकट परिस्थितियों में हमें और अधिक सतर्क रहने की जरूरत है। उन्होंने स्कूलों में शैक्षणिक गतिविधियों को भी सीमित करने का सुझाव दिया।

इसे भी पढ़ें :-Bihar : घर लौटे प्रवासी मजदूरों को सताने लगी रोजगार की चिंता, लेकिन अपने प्रदेश पहुंचने का सुकून भी

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

साभार - ऐसे भी जाने सत्य

Latest News

kinda weird : ऑस्ट्रेलिया में कोरोना के बाद आई एक और आफत..आसमान से होने लगी चूहों की बारिश..

कोरोना वायरस से अभी तक पुरी दुनिया उभर नहीं आई है और एक के बाद एक संकट आये जा...

More Articles Like This