राजस्थान : कोरोना टेस्ट क्षमता बढ़ाने के लिए लैब में बढ़ाई गई जांच मशीनें - वैभव गालरिया - Naya India
देश | राजस्थान| नया इंडिया|

राजस्थान : कोरोना टेस्ट क्षमता बढ़ाने के लिए लैब में बढ़ाई गई जांच मशीनें – वैभव गालरिया

Coronavirus test. Medical worker in protective suite taking a swab for corona virus test, potentially infected young woman

Jaipur | राजस्थान में  कोविड-19 के मामलों में लगातार इज़ाफा हो रहा है. जोधपुर,जयपुर,बाड़मेर में कोरोना के ज्यादा मामले दर्ज हो रहे हैं. जयपुर में एक दिन में कोविड-19 के 5000 मामले दर्ज हुए हैं. कोरोना के बढ़ते हुए ग्राफ को देखते हुए राजस्थान सरकार ने 1 लाख टेस्ट प्रतिदिन करने का निर्णय लिया है.  इससे पहले 50 हजार टेस्ट प्रतिदिन किये जा रहे थे. इसी संबंध में राज्य के समस्त चिकित्सा महाविद्यालयों और जिला चिकित्सालयों में स्थित माइक्रोबायोलॉजी लैब में 44 नई आरटीपीसीआर मशीन और 28 नई ऑटोमैटिक आरएनए एक्सट्रेक्शन मशीने उपलब्ध कराई गई हैं.

यह भी पढ़ें राजस्थान: कोरोना संक्रमित होने के बाद भी कर ली फ्लाइट में यात्रा, यात्री और एयरलाइंस पर FIR दर्ज

माइक्रोबायोलजी लैब में कोरोना की हो रही निशुल्क जांच

चिकित्सा शिक्षा सचिव श्री वैभव गालरिया ने बताया कि चिकित्सा महाविद्यालयों और जिला चिकित्सालयों में वर्तमान में 35 माइक्रोबायोलजी लैब में कोरोना की निशुल्क जांच की जा रही है. जांच क्षमता बढ़ाने के लिए इन प्रयोगशालाओं में रीजेंट रेंटल आधार पर 44 नई आरटीपीसीआर मशीन लगाई गई हैं. इस प्रक्रिया में विक्रेता द्वारा प्रति 40 हजार किट्स पर एक मशीन निशुल्क उपलब्ध कराई जानी थी. श्री गालरिया ने बताया कि ज्यादा से ज्यादा कोरोना टेस्ट करने के लिए 17 लाख 60 हजार किट्स का क्रय किया गया है। विक्रेता द्वारा इन 17.60 लाख किटों पर लगभग 14 लाख रुपये प्रति मशीन लागत की 44 मशीनें निशुल्क उपलब्ध कराई गई हैं। उन्होंने कहा कि इतनी किटें 20 से 25 दिन की आवश्यकता के लिए पर्याप्त हैं।

16 लाख 80 हजार किट्स खरीदी गई-चिकित्सा शिक्षा सचिव

चिकित्सा शिक्षा सचिव ने बताया कि आरटीपीसीआर जांच में वृद्धि के लिये ऑटोमैटिक आरएनए एक्सट्रेक्शन मशीन की भी आवश्यकता होती है। रीजेंट रेंटल आधार पर प्रति 60 हजार किट पर एक आरएनए एक्सट्रेक्शन मशीन विक्रेता द्वारा निशुल्क प्राप्त हुई है। उन्होंने बताया कि जांच क्षमता को 1 लाख प्रतिदिन करने के लिए इस मशीन की 16 लाख 80 हजार किट्स खरीदी गई हैं। इस प्रक्रिया में करीब 30 लाख रुपये प्रति मशीन लागत की 28 आरएनए एक्सट्रेक्शन मशीनें निशुल्क प्राप्त हुई हैं।

यह भी पढ़ें Rajasthan :  यहां मिल रहे हैं हर दो मिनट में कोरोना मरीज, हालात हो सकते हैं बेकाबू

Latest News

पत्नी के 72 टुकडे़ कर डीफ्रीजर में छुपाने वाले आरोपी को जमानत देने से उच्च न्यायालय का इनकार
उत्तराखंड की अस्थायी राजधानी देहरादून में 17 अक्टूबर, 2010 को अनुपमा गुलाटी की निर्ममतापूर्वक हत्या कर दी गयी थी. अनुपमा के शव…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});