Ram Mandir Bhoomi Pujan: 2023 तक भक्तों के लिए खुल जाएगा मंदिर 
देश | उत्तर प्रदेश | ताजा पोस्ट| नया इंडिया| Ram Mandir Bhoomi Pujan: 2023 तक भक्तों के लिए खुल जाएगा मंदिर 

राम मंदिर भूमि पूजन के एक साल पूरा होने पर कल होगा भव्य आयोजन, 2023 तक भक्तों के लिए खुल जाएगा मंदिर 

अयोध्या | 5 अगस्त भारतीय इतिहास और राम भक्तों के लिए काफी एतिहासिक दिन है। 5 अगस्त के दिन ही अयोध्या में श्री राम मंदिर (Ayodhya Ram Mandir) का भूमि पूजन हुआ था। प्रधानमंत्री नरेंद्र (Narendra Modi) मोदी ने रामजन्म भूमि पर पूजन (Ram Mandir Bhoomi Pujan) कर मंदिर की आधारशिला रखी थी। इस अवसर को एक साल होने के उपलक्ष्य में अयोध्या में विशेष कार्यक्रम होने जा रहे हैं।

Ayodhya के विधायक वेद प्रकाश गुप्ता के अनुसार, 5 अगस्त को भगवान राम के भूमि पूजन के उपलक्ष में विशेष कार्यक्रम होंगे। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शामिल होंगे। कार्यक्रम में प्रमुख संत-महंत भी हिस्सा लेंगे।

ये भी पढ़ें:- राज्यसभा में पेगासस मुद्दे पर जांच मांगी तो सभापति ने तृणमूल कांग्रेस के 6 सांसद निलंबित किए

2023 में राम भक्त कर सकेंगे रामलला के दर्शन
ना जाने कितने सालों से लोगों को राम जन्मभूमि में भगवान श्रीराम को विराजमान होते देखने का सपना था जो अब जल्द पूरा होने जा रहा है। अयोध्या में श्रीराम मंदिर भक्तों के लिए दिसंबर 2023 तक खोल दिया जाएगा। सूत्रों के अनुसार, 2023 के अंत तक राम भक्त भगवान रामलला के मंदिर में दर्शन कर सकेंगे।

ये भी पढ़ें:- पद्मश्री से सम्मानित पद्मा सचदेव का निधन, भारतीय साहित्य अकादमी ने जताया शोक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल अपने हाथों से राम मंदिर की नींव (Ram Mandir Bhoomi Pujan) रखी थी। जिसके बाद से अयोध्या में राममंदिर का निर्माण जोरदार स्तर पर चल रहा है। रामजन्म भूमि पूजन को एक वर्ष पूरा होने जा रहा है। ऐसे में यहां कार्यक्रम किए जाएंगे।

ये भी पढ़ें:- एलएलपी संशोधन विधेयक को राज्यसभा में मंजूरी, अब उद्योग जगत में हो जाएगा यह बड़ा बदलाव

राम मंदिर परिसर में बनेंगे कई दर्शनीय स्थल
अयोध्या में राम मंदिर के पूर्ण निर्माण का अनुमानित समय 2025 तक तय किया गया है। जिसमें पूरे 67 एकड़ भूमि पर मंदिर का निर्माण होना है। पूरे राम मंदिर निर्माण में 900 से 1000 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। राम मंदिर परिसर में म्युजियम, आर्काइव और एक रिसर्च सेन्टर भी बनाया जाना प्रस्तावित है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow