nayaindia RBI Repo Rate 2018 के बाद पहली बार RBI ने नीतिगत दरें बढ़ाईं...
ताजा पोस्ट | देश| नया इंडिया| RBI Repo Rate 2018 के बाद पहली बार RBI ने नीतिगत दरें बढ़ाईं...

RBI Repo Rate : 2018 के बाद पहली बार RBI ने नीतिगत दरें बढ़ाईं, सभी प्रकार के लोन पर पड़ेगा असर…

RBI Repo Rate :
Image Source : Social Media

मुंबई | RBI Repo Rate : भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बुधवार को प्रमुख नीतिगत दर रेपो को 0.40 प्रतिशत बढ़ाकर 4.40 प्रतिशत कर दिया है. मुख्य रूप से बढ़ती मुद्रास्फीति (inflation) को काबू में लाने के लिये केंद्रीय बैंक ने यह कदम उठाया है. बता दें कि खुदरा मुद्रास्फीति पिछले तीन महीने से लक्ष्य की उच्चतम सीमा छह प्रतिशत से ऊपर बनी हुई है. RBI को खुदरा महंगाई दर दो प्रतिशत घट-बढ़ के साथ चार प्रतिशत पर बरकरार रखने की जिम्मेदारी मिली हुई है. बता दें कि बिना पहले से तय किए गए कार्यक्रम के मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक में सभी छह सदस्यों ने आम सहमति से नीतिगत दर बढ़ाने का निर्णय किया है. दूसरी तरफ उदार रुख को भी कायम रखा गया है.

2018 के बाद की गई बढ़ोतरी

RBI Repo Rate : इस संबंध में जानकारी देते हुए रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि महंगाई दर लक्ष्य की ऊपरी सीमा छह प्रतिशत से ऊपर बनी हुई है. अप्रैल महीने में भी इसके ऊंचे रहने की संभावना है. मार्च महीने में खुदरा मुद्रास्फीति 6.9 प्रतिशत रही. रिजर्व बैंक ने अगस्त, 2018 के बाद पहली बार नीतिगत दर में बढ़ोतरी की है. ऐसे में हर तरफ से दबाव बढ़ रहा था. बता दें कि अब इस फैसले के बाद से होम लोन से लेकर सभी तरह के लोन भी महंगे होंगे. इससे आम आदमी पर और भी ज्यादा अतिरिक्त दबाव बनेगा.

इसे भी पढें- गुजरात में मंत्रियों के बाद विधायकों की बारी

रेपो दर बढ़ने से दिखा असर

RBI Repo Rate : RBI के रेपो दर में वृद्धि की घोषणा के बाद घरेलू शेयर बाजार में बुधवार को दोपहर के कारोबार में बड़ी गिरावट दर्ज की गई. सेंसेक्स 1,060.64 अंक लुढ़क गया. 30 शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स दोपहर के कारोबार में 1,060.64 अंक या 1.86 प्रतिशत की गिरावट के साथ 55,915.35 अंक पर आ गया. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 317.75 अंक या 1.86 प्रतिशत फिसलकर 16,751.35 अंक पर कारोबार कर रहा था. सेंसेक्स की कंपनियों में बजाज फिनसर्व, बजाज फाइनेंस, टाइटन, एचयूएल, आरआईएल, एशियन पेंट्स और एचडीएफसी बैंक के शेयर नुकसान में थे.वहीं पावरग्रिड, कोटक महिंद्रा बैंक, एनटीपीसी, इन्फोसिस और विप्रो के शेयर लाभ में कारोबार कर रहे थे.

इसे भी पढें- लियाम ‘फिलर-ए-मिलर’ लिविंगस्टोन और बॉलर

Leave a comment

Your email address will not be published.

eight + seven =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
विपक्ष बनवा रहा है एकक्षत्रपता
विपक्ष बनवा रहा है एकक्षत्रपता