plasma थेरेपी के बाद अब रेमडेसिविर इंजेक्शन को भी हटाने पर विचार
कोविड-19 अपडेटस | देश| नया इंडिया| plasma थेरेपी के बाद अब रेमडेसिविर इंजेक्शन को भी हटाने पर विचार

Corona Update: प्लाज्मा थेरेपी के बाद अब रेमडेसिविर इंजेक्शन को भी इलाज की प्रक्रिया से हटाने पर हो रहा है विचार

New Delhi: कोरोना की दूसरी लहर (Corona Second Wave) से देश भर में अब भी हालात काफी डरा रहे हैं. इस दौरान देश में कई तरह के शोध भी हो रहे हैं . लगातार चल रहे शोध के कारण लगातार संक्रमण के इलाज में कई तरह के परिवर्तन हो रहे हैं. कोरोना की पहली लहर के समय से ही कोरोना से लड़ाई में सबसे कारगार माने जा रहे plasma थेरेपी को इलाज की कड़ी से हटा दिया गया है. सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार अब विशेषज्ञों की टीम अब कोरोना के इलाज से रेमडेसिविर (Remdesivir Injection) को भी हटाने पर विचार कर रही है. माना जा रहा है कि अब रेमडेसिविर इंजेक्शन को भी हटाने पर जल्द फैसला लिया जा सकता है. दिल्ली में सर गंगाराम अस्पताल के चेयरपर्सन डॉ. डीएस राना ने मंगलवार को कहा कि कोरोना ट्रीटमेंट से रेमडेसिविर को भी जल्द हटाने पर विचार चल रहा है.

plasma

कारगर होने की नहीं मिल रहे हैं प्रमाण

Latest News on Remdesivir: कोरोना संक्रमित मरीजों पर इसके बेहतर प्रभाव को लेकर कोई सबूत सामने नहीं आये हैं. इसलिए इस दवा को कारगर नहीं माना जा सकता. ICMR की अडवाइजरी पर प्लाज्मा थेरेपी को कोरोना ट्रीटमेंट से हटा दिया गया है और अब पूरी संभावना है कि रेमडेसिविर को भी इससे हटा दिया जाये. कोरोना संक्रमण के दौरान प्लाज्मा थेरेपी और रेमडेसिविर दोनों की डिमांड इतनी बढ़ गयी थी कि केंद्र सहित कई राज्य सरकारों ने कोरोना संक्रमितों को प्लाज्मा डोनेट करने के लिए जागरुकता अभियान चलाया था. दूसरी तरफ रेमडेसिविर की डिमांड इतनी ज्यादा तेज हो गयी थी कि इस दवा की मांग ब्लैक मार्केट में बढ़ गयी थी सरकार को इसकी कालाबाजारी रोकने के लिए कड़े फैसले लेने पड़े साथ ही कंपनी को इसकी डिमांड पूरी करने के लिए उत्पादन बढ़ाने पर भी जोर देना पड़ा. कंपनी रेमडेसिविर के उत्पादन पर फोकस कर रही है. (plasma)

इसे भी पढें- Rajasthan में तूफान ‘Tauktae’: 24 घंटे से लगातार हो रही बारिश, सैंकड़ों पेड़ धराशाही, नदी-नालों में उमड़ा पानी का सैलाब

plasma

बाजार में लगातार बढ़ी है इसकी मांग

Remdesivir News Today: रेमडेसिविर की लगातार बढ़ती मांग पर इस नये बयान का क्या असर पड़ेगा कहना मुश्किल है, हालांकि पर भी केंद्र सरकार ने यह बयान जारी किया था कि रेमडेसिविर कोरोना संक्रमण के इलाज में खास कारगर नहीं है, इसके बावजूद भी दवा की मांग पर इसका खास असर नहीं हुआ. सरकार ने इसके बाद दवा की कालाबाजारी को रोकने के लिए इसके इस्तेमाल को लेकर नियम बनाये, अस्पतालों में कैसे इसका इस्तेमाल होगा, क्या रणनीति होगी इसे तय किया जाना अभी भी एक बड़ा सवाल है. (plasma)

इसे भी पढें- सिंगापुर ने अरविंद केजरीवाल के दावे को किया खारिज, ट्वीट के बाद खामोश है सीएम

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
shocked and hurt : गणतंत्र दिवस परेड से बंगाल की झांकी को बाहर करने पर ममता और पीएम मोदी के बीच छिड़ी बहस
shocked and hurt : गणतंत्र दिवस परेड से बंगाल की झांकी को बाहर करने पर ममता और पीएम मोदी के बीच छिड़ी बहस