सिख गुरुओं का बलिदान अविस्मरणीय: योगी - Naya India
ताजा पोस्ट | देश| नया इंडिया|

सिख गुरुओं का बलिदान अविस्मरणीय: योगी

लखनऊ। देश और मानवता के लिए सिख गुरुओं के बलिदान को

अविस्मरणीय बताते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी

आदित्यनाथ ने मंगलवार को कहा कि गुरुनानक देव के अंतिम दिनों के पवित्र पड़ाव

करतारपुर साहिब का दर्शन करने श्रद्धालु

अब बेरोकटोक जा सकेंगे।

गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के मौके पर डीएवी कालेज ग्राउंड पर आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए

उन्होने कहा, मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और आप सभी को इसके लिये बधाई देता हूं। मोदी के प्रयास से अब वह पल संभव हुआ है

जब हम ननकाना साहब के दर्शन को जा सकेंगे।

यह खबर भी पढ़े:- योगी बनें राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट के अध्यक्ष

प्रकाशोत्सव की बधाई देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि देश और मानवता के

लिए सिख गुरूओं के बलिदान को भुलाया नहीं जा सकता।

करीब 550 साल पहले देश विदेशी आतिताइयो के आक्रमण,

धर्म और सच्चाई के मूल्यों के हनन जैसी गंभीर समस्यायों का सामना कर रहा था।

उस कालखंड में गुरुनानक देव जी ने अपने दिव्य प्रकाश से मानव कल्याण की राह

दिखायी। उन्होने कहा, गुरुनानक देव जी ने विदेशी मुगल शासक बाबर का सामना करने का

साहस दिखाया जब देश के लोग उसके उत्पीड़न का शिकार थे।

धर्म, सच्चाई और बहन

बेटियों का आदर करने के मामलों में समाज का एक बड़ा वर्ग अपनी आवाज उठाने से डरता था।

उस समय गुरुनानक देवजी ने समाज को ज्ञान के उजाले के साथ नई राह दिखायी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरुनानक देव ने सिख पंथ की स्थापना की जब देश और समाज खतरे में था।

सिख गुरु इसकी रक्षा के लिए आगे आए। सिख गुरुओं की त्याग और बलिदान की

भावना देश के इतिहास में सुनहरे अक्षरों में दर्ज है और हर भारतीय को उनका कृतज्ञ होना चाहिए।

योगी ने कहा कि सिख गुरुओं के त्याग और बलिदान के कारण देश और समाज

आज जीवित है। उनके इस महान योगदान के कारण दुनिया के कोने कोने में बसे

भारतीय प्रकाशोत्सव के जरिए गुरुनानक देव जी को श्रद्धाजंलि अर्पित करते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
बिहार में शराब पीने से 10 की मौत
बिहार में शराब पीने से 10 की मौत