Schools Reopen in Rajasthan: Rajasthan में स्कूल खोलने पर लटकी तलवार
ताजा पोस्ट | देश | राजस्थान| नया इंडिया| Schools Reopen in Rajasthan: Rajasthan में स्कूल खोलने पर लटकी तलवार

Rajasthan में कोरोना के 33 नए मामले आए सामने, स्कूलों को फिर से खोलने पर लटकी तलवार

school reopen in rajasthan

जयपुर | राजस्थान में कोरोना संक्रमण (Coronavirus in Rajasthan) के कम होते प्रभाव को देखते हुए राजस्थान सरकार अब बच्चों के स्कूल (Schools Reopen in Rajasthan) खोलने की पूरी तैयारी कर चुकी है। हालांकि बच्चों के स्कूल खोलने के इस फैसले से उनके अभिभावक खुश नहीं दिख रहे हैं। उनका कहना है कि बच्चों की वैक्सीन नहीं अभी नहीं आई है और तीसरी लहर की संभावना भी बढ़ती जा रही है। ऐसे में सरकार का ये फैसला सही नहीं है। वहीं इसी बीच राज्य में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना संक्रमण के 33 नए मामले सामने आए हैं। राहत ये रही कि इस दौरान एक भी मौत कोरोना से दर्ज नहीं की गई है।

ये भी पढ़ें:- Raj Kundra के घर की तलाशी, पुलिस ने किए बड़े खुलासे, इंटरनेशनल डील की तैयारी में था राज कुंद्रा

gehlet cabinet meeting today

कुल संक्रमितों का आंकड़ा 9,44,216 पहुंचा
स्वास्थ्य विभाग से मिले आंकड़ों के मुताबिक, राज्य मेें बीते 24 घंटे के दौरान 66 मरीज कोरोना संक्रमण से मुक्त हुए हैं। जिसके बाद राज्य में कोरोना से सही होने वालों का कुल आंकड़ा 9,44,216 हो गया है। इसी के साथ राज्य में अबतक मिले कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 9,53,495 पहुंच गई है, जिनमें से अबतक कुल 8,952 मरीजों ने दम तोड़ दिया है।

ये भी पढ़ें:- मस्जिद में जुम्मे की नमाज की गिरी दीवार, आधा दर्जन लोग दबे, 2 की मौत

Preparation to open school in Uttarakhand

यहां मिले इतने नए केस
राजस्थान में बीते 24 घंटे के दौरान सबसे ज्यादा कोरोना के 16 नए मामले राजधानी जयपुर से सामने आए हैं। इसके बाद उदयपुर में 6, बांसवाड़ा में 5, जोधपुर-श्रीगंगानगर में 2-2 वहीं, हनुमानगढ़-चित्तौड़गढ़ और अजमेर में एक-एक नया पाॅजिटिव केस दर्ज किया गया है।

ये भी पढ़ें:- Rajasthan Board 12th Result 2021 आज होगा जारी, विद्यार्थी यहां देख सकेंगे परिणाम

स्कूल खोलने से पहले बच्चों के स्वास्थ्य की लिखित गारंटी ले सरकार

Schools Reopen in Rajasthan: राजस्थान सरकार की ओर से स्कूल खोले जाने को लेकर लिए गए फैसले पर विद्यार्थियों के अभिभावकों ने नाराजगी जताई है। राज्य सरकार के इस फैसले पर संयुक्त अभिभावक संघ ने कहा है कि, सरकार ने प्रदेश की जनता के प्रति अपनी निष्ठा को निजी स्कूलों के आगे गिरवी रख दिया है। राज्य सरकार ने निजी स्कूलों के दबाव में आकर स्कूलों को खोलने का एकतरफा फैसला लिया है। ऐसे जब तक राज्य सरकार और स्कूल प्रत्येक बच्चों के स्वास्थ्य की लिखित गारंटी और जिम्मेदारी नहीं लेंगे, तब तक प्रदेश के कोई भी अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेजेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
40 लाख का इनामी माओवादी कोरोना से ढेर, कई दिनों से था संक्रमित, जंगल में हुई मौत
40 लाख का इनामी माओवादी कोरोना से ढेर, कई दिनों से था संक्रमित, जंगल में हुई मौत