सामाजिक निवेश है महिलाओं का सशक्तिकरण: स्मृति ईरानी - Naya India
ताजा पोस्ट | देश| नया इंडिया|

सामाजिक निवेश है महिलाओं का सशक्तिकरण: स्मृति ईरानी

नई दिल्ली। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने महिलाओं के साथ लैंगिक भेदभाव को वैश्विक चुनौती करार देते हुए शुक्रवार को कहा कि जीवन के शुरूआती दौर में लड़कियां को पोषण देना वास्तव में सामाजिक निवेश है जिससे सशक्त नारी कार्यबल का सृजन किया जा सकता है। ईरानी ने यहां ‘भविष्य का कार्य: भारतीय कार्यबल में महिलायें’ कार्यक्रम के समापन पत्र को संबोधित करते हुए कहा कि लड़कियों के शुरूआती जीवन में उनके पोषण पर किया गया निवेश सामाजिक निवेश है जिससे बेहतर कार्यबल तैयार करने में मदद मिलती है।

उन्होंने कहा कि महिलाओं के साथ लैंगिक भेदभाव वैश्विक चुनौती है जिसके निपटारे में लिए भारत अगुवाई कर रहा है। इस अवसर पर विश्व बैंक के भारत क्षेत्र निदेशक जुनैद कमाल अहमद, खाद्य प्रसंस्करण उद्योग विभाग की सचिव पुष्पा सुब्रह्मण्यम, कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय के सचिव प्रवीण कुमार, वित्तीय सेवायें विभाग के अवर सचिव संजीव कौशिक और महिला एवं बाल विकास मंत्रालय में विशेष सचिव अजय टिर्की मौजूद थे। कार्यक्रम में महिला उद्यमी और सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि अन्य पक्षधारक भी उपस्थित रहे। यह कार्यक्रम विश्व बैंक के सहयोग से आयोजित किया गया।

यह खबर भी पढ़ें:- केजरीवाल महिला विरोधी: स्मृति ईरानी

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने पहली बार दुग्धपान कराने वाली माताओं के लिए आहार सूची तैयार की है और इसे देशभर में आंगनवाड़ियों के साथ साझा किया गया है। उन्होंने कहा कि यह समय हताशा छोड़ने का है। सरकार की कोई भी नीति या निर्णय निराशा या भय पर आधारित नहीं होगा। उन्होंने कहा कि प्रत्येक वर्ष घरेलू हिंसा के एक लाख से ज्यादा मामले दर्ज होते हैं। लैंगिक भेदभाव रहित समाज बनाने के लिए न केवल लड़कियों को जागरुक करना होगा बल्कि लड़कों को भी संवदेनशील बनाना होगा। उनका मंत्रालय सभी जिलों के स्कूलों में तैनात सलाहकारों को प्रशिक्षित करने के लिए निमहांस के साथ काम कर रहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *