nayaindia Solar Eclipse: साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, मंदिरों के कपाट बंद...
kishori-yojna
देश | उत्तराखंड | ताजा पोस्ट | लाइफ स्टाइल | धर्म कर्म| नया इंडिया| Solar Eclipse: साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, मंदिरों के कपाट बंद...

साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, मंदिरों के कपाट बंद, गंगा घाटों को गंगाजल से किया जाएगा शुद्ध

नई दिल्ली | Solar Eclipse: साल 2022 का आखिरी सूर्यग्रहण आज मंगलवार को दिखाई देने जा रहा है। जिसके चलते सूतक काल लगा हुआ है। सूर्यग्रहण के कारण देश के सभी मंदिरों में आज कपाट बंद हैं और पूजा-पाठ नहीं हो रहे हैं। सूर्यग्रहण के प्रभाव के कारण उत्तराखंड में मंदिरों के कपाट बंद कर दिए गए हैं।

ये भी पढ़ें:- दिवाली पर चक्रवाती तूफान ‘सितरंग’ का कोहराम, असम में मूसलाधार बारिश, उड़े चाय बागान, घर

ब्रह्म मुहूर्त में ही विधि विधान के साथ हुई पूजा
Solar Eclipse: देवभूमि उत्तराखंड में सूर्यग्रहण के चलते चारों धामों के साथ ही हरिद्वार में भी तमाम मठों और मंदिरों में पूजा अर्चना बंद कर दी गई है। सूर्यग्रहण को देखते हुए गंगोत्री और यमनोत्री धाम में भी कपाट बंद हैं। ऐसे में सूतक काल लगने से पहले ही आज धाम के पुरोहितों ने ब्रह्म मुहूर्त में ही विधि विधान के साथ सुबह 4 बजे पूजा अर्चना कर श्रद्धालुओं के लिए कपाट बंद कर दिए। अब शाम 6 बजे तक कपाट बंद रहेंगे। इसके बाद ही विधि विधान के साथ कपाट फिर खोले जाएंगे।

ये भी पढ़ें:- दीप बना ज्वाला! बस में दीपक जलाकर सो गए ड्राइवर-कंडक्टर, जलकर हुई मौत

गंगा घाटों को गंगाजल से धोकर किया जाएगा शुद्ध
Solar Eclipse:  हरिद्वार में 4.27 बजे से शाम 6.22 बजे तक सूर्य ग्रहण का असर रहेगा। सूर्य ग्रहण समाप्त होने पर गंगा घाटों को गंगाजल से धोकर शुद्ध किया जाएगा जिसके बाद शुद्धिकरण होने पर ही मंदिरों के पट खोले जाएंगे और पूजा-अर्चना शुरू होगी। सूर्यग्रहण के 12 घंटे पहले ही सूतक काल शुरू हो गया है। ऐसे में दिवाली की अगली सुबह हरिद्वार की हर की पैड़ी पर होने वाली सुबह और शाम की आरती भी रोक दी गई है।

ये भी पढ़ें:- कश्मीरी शिया नेता अब्बास अंसारी का निधन

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one + three =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
पतंजलि ने जरूरतमंदों को आवश्यक सामग्री वितरित की
पतंजलि ने जरूरतमंदों को आवश्यक सामग्री वितरित की