nayaindia Supreme Court National Medical Commission Government of India हकलाने के कारण मेडिकल में दाखिले से इनकार करने पर नोटिस
देश| नया इंडिया| Supreme Court National Medical Commission Government of India हकलाने के कारण मेडिकल में दाखिले से इनकार करने पर नोटिस

हकलाने के कारण मेडिकल में दाखिले से इनकार करने पर नोटिस

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने एक लड़की द्वारा दायर याचिका पर केंद्र और अन्य से जवाब मांगा है। हकलाने के कारण लड़की को मेडिकल पाठ्यक्रम में दाखिला (admission to medical course) देने से इनकार कर दिया गया था। जस्टिस डी.वाई. चंद्रचूड़ (Justice D.Y. Chandrachud) और जस्टिस हिमा कोहली (Justice Hima Kohli) की पीठ ने भारत सरकार (Government of India), राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (National Medical Commission) और अन्य को नोटिस जारी कर तीन सप्ताह के भीतर जवाब देने को कहा।

शीर्ष अदालत लड़की की याचिका पर सुनवाई कर रही थी जिसने स्नातक चिकित्सा शिक्षा, 1997 संबंधी भारतीय चिकित्सा परिषद के संशोधित नियमों को चुनौती दी है। नोटिस जारी करते हुए पीठ ने कहा कि नियमों के परिणामस्वरूप, याचिकाकर्ता को इस आधार पर पाठ्यकम में दाखिला नहीं दिया गया क्योंकि स्पष्ट बोलने में बाधा (हकलाना) 40 प्रतिशत से अधिक है हालांकि याचिकाकर्ता दिव्यांग व्यक्तियों के अधिकार कानून 2016 के तहत मानक दिव्यांगता से पीड़ित है।

याचिका में स्नातक संशोधित चिकित्सा शिक्षा संबंधी विनियम, 1997 को चुनौती दी गई है जिसकी वजह से याचिकाकर्ता को परीक्षा में शामिल होने की अनुमति नहीं दी गई।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

8 + 16 =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
शाह ने आप का खाता नहीं खुलने का दावा किया
शाह ने आप का खाता नहीं खुलने का दावा किया