• डाउनलोड ऐप
Friday, May 14, 2021
No menu items!
spot_img

रमजान के पाक महीने मानवता का धर्म निभाया, अल्लाह के साथ भगवान को मनाया ..मुस्लिम युवकों ने किया कोरोना संक्रमित महिला का अंतिम संस्कार

Must Read

इन दिनों जहां हर रोज़ ऐसा घटनाएं सामने आती है जो साम्प्रदायिक सदभावना को गहरी ठेस पहुंचाती है। वहीं कुछ तो बात है इस देश की हवा में कि हिंदु मुस्लिम दोनों धर्म अभी भी एकता की एक डोर में बंधे है। चाहे समय-समय पर इस डोर को तोड़ने का कितना ही प्रयास क्यों ना किया गया हो। लेकिन फिर भी हिंदु मुस्लिम दोनें के बीच का प्रेम दोनें धर्मों के बीच की खाई को कभी बढ़ने नहीं देता है। इसी का एक उदाहरण मेदिनीनगर(बंगाल) से सामने आया है। जहां एक हिंदु महिला के अंतिम संस्कार में मुस्लिम युवकों ने सहायता की।

इसे भी पढ़ें Guideline For Shops in Rajasthan : राजस्थान सरकार ने बढ़ाई सख्ती, जरूरी दुकान खोलने के लिए समय किया निर्धारित, जानें कौन सी दुकान कब तक खुलेंगी

क्या था मामला

पलामू मुख्यालय मेदिनीनगर में कोविड 19 से एक महिला की मौत के बाद अंतिम संस्कार में कोई नही पंहुचा।  तब कुछ अल्पसंख्यक युवकों ने अंतिम संस्कार में मदद की मृतक का सिर्फ एक बेटा ही अंतिम संस्कार में पंहुचा था। मदद करने वाले सभी अल्पसंख्यक पवित्र रमजान के महीने में रोजे में थे। अब क्योंकि कोरोना काल में दूसरे रिश्तेदारों ने आने से मना कर दिया है। ऐसे में बेटे के लिए अकेले ही अपनी मां का अंतिम संस्कार करना मुश्किल हो रहा था।  ऐसे वक्त में मोसैफ, सुहैल, आसिफ राइन, शमशाद उर्फ मुन्नान और जाफर महबूब ने साहस का परिचय देते हुए ना सिर्फ अपने उस हिंदू दोस्त की मदद की बल्कि रीति-रिवाज का पालन करते हुए अंतिम संस्कार भी करवाया। युवकों ने खुद ही मृत महिला का शव एम्बुलेंस से उतारकर 200 मीटर दूर चिता तक पंहुचाया। उन युवकों के मुताबिक वे अपने दोस्त को तकलीफ में नहीं देख सकते थे, ऐसे में उन्होंने अपनी तरफ से ये मदद का हाथ बढ़ाया।

धार्मिक स्थल बने कोविड सेंटर

कई ऐसे धार्मिक स्थल भी हैं जो अब कोविड सेंटर बन दर-दर भटक रहे मरीजों की मदद कर रहे हैं। कई ऐसे गुरुद्वारे देखने को मिल गए हैं जहां पर क्वारंटीन में बैठे लोगों तक खाना पहुंचाया जा रहा है। हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं जिसके जरिए घर तक जरूरतमंद को दवाई पहुंचाई जा रही है। भारत में कोरोना का हाल यह है कि कोरोना से मर रहे मरीजों को अंतिम संस्कार के लिए जगह नहीं मिल रही है।

मौतों के मामले में ब्राजील के बाद भारत का नंबर

कोरोना कहर रोजाना बढ़ता ही जा रहा है। तमाम पाबंदियों और कढ़ाई के बाद भी देश में कोरोना ने तबाही मचा रखी है। बीते 24 घंटों में भारत में 3 लाख 32 हजार 503 नए कोरोना संक्रमित मिले। बीते 24 घंटे में देश में 2256 लोगों ने अपनी जान गंवाई। पूरी दुनिया में ब्राजील के बाद भारत इकलौता देश है जहां एक दिन में इतनी मौतें हो रही हैं। बीते सात दिनों से लगातार कोरोना मरीजों की मौत की संख्या भी रिकॉर्ड तोड़ रही है। देश में महामारी से मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 1,86,927 हो गई है।

इसे भी पढ़ें Corona से बचाव के लिए Aarogya Setu App जरूरी, करें डाउनलोड और जानें क्या है इससे फायदे

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

साभार - ऐसे भी जाने सत्य

Latest News

सत्य बोलो गत है!

‘राम नाम सत्य है’ के बाद वाली लाइन है ‘सत्य बोलो गत है’! भारत में राम से ज्यादा राम...

More Articles Like This