उमा भारती ने गोपाल कांडा के समर्थन पर उठाए सवाल

भोपाल। हरियाणा विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद बहुमत से छह सीट दूर चल रही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को निर्दलीय विधायक गोपाल कांडा द्वारा समर्थन की बात सामने आने के बाद मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने अपरोक्ष तौर पर यह समर्थन न लेने का पार्टी से अनुरोध किया है। उनका मत है कि साफ छवि वाले लोगों का ही समर्थन लिया जाना चाहिए।

ये खबर भी पढ़ेः हरियाणा: 8 निर्दलीय विधायकों का भाजपा को समर्थन

उमा भारती ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर कहा, जानकारी मिली है कि गोपाल कांडा नाम के एक निर्दलीय विधायक का समर्थन भी हमें मिल सकता है। इसी पर मुझे कुछ कहना है। अगर गोपाल कांडा वही व्यक्ति है, जिसकी वजह से एक लड़की ने खुदकुशी की थी तथा उसकी मां ने भी न्याय नहीं मिलने पर आत्महत्या कर ली थी, तो मामला अभी कोर्ट में विचाराधीन है, तथा यह व्यक्ति जमानत पर बाहर है। उन्होंने आगे लिखा, गोपाल कांडा बेकसूर है या अपराधी, यह तो कानून साक्ष्यों के आधार पर तय करेगा, किंतु उसका चुनाव जीतना उसे अपराधों से बरी नहीं करता। चुनाव जीतने के बहुत सारे फैक्टर होते हैं। मैं भाजपा से अनुरोध करूंगी कि हम अपने नैतिक अधिष्ठान को न भूलें। हमारे पास तो नरेंद्र मोंदी जी जैसी शक्ति मौजूद है, एवं देश क्या पूरे दुनिया की जनता मोदी जी के साथ है तथा मोदी जी ने सतोगुणी ऊर्जा के आधार पर राष्ट्रवाद की शक्ति खड़ी की है।

ये खबर भी पढ़ेः खट्टर ने की नड्डा से मुलाकात

उन्होंने आगे लिखा, “हरियाणा में हमारी सरकार जरूर बने, लेकिन यह तय करिए कि जैसे भाजपा के कार्यकर्ता साफ छवि के होते हैं, हमारे साथ वैसे ही लोग हों।” उमा भारती इन दिनों गंगा प्रवास पर है। उन्होंने इस बात का जिक्र करते हुए भी लिखा है कि, मैं अभी अपने गंगा प्रवास पर हिमालय में गंगा के किनारे हूं। यहां टीवी नहीं है, मैं मोबाइल पर सारी खबरें ले रही हूं, मुझे जानकारी मिली है कि हम हरियाणा में भी सरकार बना सकते हैं। यह एक अच्छी खबर है। मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने हरियाणा की सफलता पर प्रधानमंत्री मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर व महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को बधाई देते हुए एक ट्वीट में लिखा, जब तक मोदी जी की लहर नहीं आई थी, हम हरियाणा में दो विधानसभा सीटें जीतने पर भी खुश हो जाते थे। इसलिए हरियाणा में पहले चुनाव में सरकार बना लेना और दूसरे चुनाव में भी सबसे बड़ी पार्टी बनकर आना असाधारण उपलब्धि है। यह सब नरेंद्र मोदी जी की तपस्या का परिणाम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shares