Unnao rape case 2017 भाजपा ने बताया था अपने प्रत्याशी को साफ सुुथरा
देश | उत्तर प्रदेश | ताजा पोस्ट| नया इंडिया| Unnao rape case 2017 भाजपा ने बताया था अपने प्रत्याशी को साफ सुुथरा

Unnao rape case 2017 : गैंगरेप पीड़िता की मांग के बाद BJP ने बदला अपनी प्रत्याशी, अरूण सिंह की जगह अब शकुन सिंह को टिकट

Unnao rape case 2017

उन्नाव | Unnao rape case 2017 : उत्तर प्रदेश में एक बार फिर से उन्नाव रेप केस सुर्खियों में आ गया. भाजपा को जिला पंचायत चुनाव अरुण सिंह को प्रत्याशी बनाने का फैसला वापस लेना पड़ा है. बता दें कि 2 दिन पहले ही अरुण सिंह को प्रत्याशी के तौर पर भाजपा ने मैदान में उतारा था. असमंजस की स्थिति झेलने के बाद भाजपा ने अपना यह फैसला वापस ले लिया. अब उत्तर प्रदेश भाजपा ने अरुण सिंह की जगह शकुन सिंह को भाजपा का नया प्रत्याशी घोषित किया है. बता दें कि शकुन सिंह पूर्व एमएलए स्वर्गीय अजीत सिंह की पत्नी हैं. पिछले कई दिनों से उन्नाव में जिला पंचायत अध्यक्ष सीट पर भाजपा के प्रत्याशी को लेकर विवाद हो रहा था. बुधवार की देर रात अरुण सिंह को प्रत्याशी भी घोषित कर दिया गया. लेकिन बाद में अरुण सिंह के नाम को निरस्त कर दिया गया.

Unnao rape case 2017

गैंगरेप पीड़िता ने किया था विरोध

Unnao rape case 2017: उन्नाव की गैंगरेप पीड़िता का सोशल मीडिया में एक वीडियो वायरल हो रहा था. इस वीडियो में पीड़िता अरुण सिंह के प्रत्याशी बनाए जाने पर सवाल खड़े कर रही थी. इस वायरल वीडियो में गैंगरेप पीड़िता भाजपा से सवाल पूछते नजर आ रही है कि भाजपा सरकार बताए कि वो उसके साथ है या कुलदीप सिंह सेंगर के . सोशल मीडिया में यह वीडियो तेजी से वायरल हो गया. दो ही दिनों में इस वीडियो को हजारों लोगों ने देखा और शेयर भी करना शुरू कर दिया. इस वीडियो में पीड़िता ने भाजपा सरकार से पूछा कि जिसने उसके पूरे परिवार को बर्बाद कर दिया उसे भाजपा टिकट कैसे टिकट दे सकती है.

इसे भी पढें- UP Conversion ATS Raid : धर्मांतरण मामले में जाकिर नाइक से भी जुड़े हैं तार, मलेशिया अधिकारियों से बात कर रही है सरकार

भाजपा ने बताया था अपने प्रत्याशी को साफ सुुथरा

पीड़िता के आरोपों के बाद कॉन्फ्रेंस करते हुए बीजेपी के जिला अध्यक्ष राजकिशोर रावत में अरुण सिंह को प्रत्याशी बनाकर उन्हें क्लीन चिट दे दी. इसके साथ ही अध्यक्ष ने यह भी कहा था कि हमारा प्रत्याशी साफ सुथरा है और ऐसा कुछ नहीं है. लेकिन बाद में भाजपा ने यू टर्न लेते हुए अरुण सिंह के प्रत्याशी बनाने के फैसले को निरस्त कर दिया और उनकी जगह शकुन सिंह को प्रत्याशी घोषित कर दिया. बता दें कि कुलदीप के साथ ही अरूण सिंह ने भी गंभीर आरोप लगाए थे.

इसे भी पढें- कोरोना काल में स्कूल से वेतन ना मिलने के कारण ताइक्वांडो कोच ने की आत्महत्या

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});