criminal caught in the greed of marriage: पुलिस ने कहा I am Joking...
देश | उत्तर प्रदेश| नया इंडिया| criminal caught in the greed of marriage: पुलिस ने कहा I am Joking...

हंस मत देना ! शादी और 10 लाख का दहेज सुनकर दौड़ा चला आया शातिर अपराधी, फिर पुलिस ने कहा I am Joking…

criminal caught in the greed of marriage:

कानपुर । criminal caught in the greed of marriage: आज के दौर में पुलिस वालों को भी बदमाशों की तरह से सोचना पड़ता है. ऐसा हैरतअंगेज करने वाला मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर से सुनने को आया है. जानकारी के अनुसार काफी समय से फरार चल रहे शातिर अपराधी को पकड़ने के लिए पुलिस ने ऐसा जाल बिछाया जिसकी शायद ही किसी ने कल्पना की होगी. सबसे बड़ी बात है कि पुलिस वालों के जाल में शातिर अपराधी फस भी गया और पुलिस ने उसे पकड़कर हवालात के पीछे भेज दिया. हालांकि पुलिस ने इस शातिर अपराधी को पकड़ने के लिए विभाग के बाहर के भी कुछ लोगों की मदद ली जिनमें एक शादी कराने वाला बिचौलिया और पंडित शामिल थे. अब लोग पुलिस के इस कारनामे पर सोशल मीडिया में खुब मजे ले रहे हैं. लोग इस किस्से को पोस्ट कर लिख रहे हैं पुलिस ने कहा- I am Joking…

criminal caught in the greed of marriage:

शादी और 10 लाख का दहेज सुनकर दौड़ा चला आया बदमाश

criminal caught in the greed of marriage: पूरा मामला सचेंदी क्षेत्र के उदयपुर गांव का बताया जा रहा है. आरोपी बदमाश को पकड़ने के लिए पुलिस वालों में से ही एक हेड कांस्टेबल लड़की का पिता बन गया और यही नई भर्ती होकर आई पुलिसकर्मी युवती को नकली दुल्हन बना दिया गया. बस फिर क्या था पुलिस ने बिचौलियों की मदद से उसके परिवार में शादी के लिए रिश्ता भेज दिया. हालांकि पुलिस वालों की मदद इस काम में एक पंडित ने भी की. सिर्फ सुंदर युवती ही नहीं बल्कि पुलिस वालों ने गांधी के परिवार वालों को 10 लाख रुपए दहेज देने का भी लालच दिया. बता दें कि पुलिस वालों को पहले से इस बात का शक था कि अपराधी अपने घर वालों के कांटेक्ट में है , लेकिन घर वाले इस बात को छुपाते हैं.

इसे भी पढ़ें – गर्लफ्रेंड की दूसरे लड़के से नजदीकियां नहीं बर्दाश्त कर पाया एक्स बॉयफ्रैंड, प्रेमिका को मारने के बाद खुद भी खा लिया जहर..

criminal caught in the greed of marriage:

शादी करने पहुंचा, पुलिस ने दबोचा

पुलिसकर्मियों द्वारा बिछाए गए जाल में अपराधी के साथ हीं उसका परिवार भी फस गया. लड़की से मिलने के लिए जैसे ही अपराधी घर पहुंचा वैसे ही पुलिस वालों ने उसे धर दबोचा. बता दें कि अपराधी एक शातिर चोर है. खासकर वह गाड़ियों की चोरी करता था और चोरी की वारदात को अंजाम देने के बाद दूसरे शहर भाग जाते था.

इसे भी पढ़ें- मामा ससुर के बेटे की शादी में गई थी विवाहिता, दूल्हे ने ही किया बलात्कार

By वेद प्रताप वैदिक

हिंदी के सबसे ज्यादा पढ़े जाने वाले पत्रकार। हिंदी के लिए आंदोलन करने और अंग्रेजी के मठों और गढ़ों में उसे उसका सम्मान दिलाने, स्थापित करने वाले वाले अग्रणी पत्रकार। लेखन और अनुभव इतना व्यापक कि विचार की हिंदी पत्रकारिता के पर्याय बन गए। कन्नड़ भाषी एचडी देवगौड़ा प्रधानमंत्री बने उन्हें भी हिंदी सिखाने की जिम्मेदारी डॉक्टर वैदिक ने निभाई। डॉक्टर वैदिक ने हिंदी को साहित्य, समाज और हिंदी पट्टी की राजनीति की भाषा से निकाल कर राजनय और कूटनीति की भाषा भी बनाई। ‘नई दुनिया’ इंदौर से पत्रकारिता की शुरुआत और फिर दिल्ली में ‘नवभारत टाइम्स’ से लेकर ‘भाषा’ के संपादक तक का बेमिसाल सफर।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

});