nayaindia BJP didn't get cataract : अखिलेश जी आप धृतराष्ट्र बन गये हैं
देश | उत्तर प्रदेश| नया इंडिया| BJP didn't get cataract : अखिलेश जी आप धृतराष्ट्र बन गये हैं

भाजपा को मोतियाबिंद नहीं हुआ है अखिलेश जी आप धृतराष्ट्र बन गये हैं – सिद्धार्थनाथ सिंह

BJP didn't get cataract

अखिलेश यादव जी बीजेपी को मोतियाबिंद नहीं हुआ है। दरअसल आप धृतराष्ट्र हो गए हैं। इसी कारण से आपको बीजेपी का किया हुआ कोई काम दिखता ही नहीं है। विकास योजनाओ से लेकर लखीमपुर तक की घटना में आपका यही रवैया रहा है। यह बातें उत्तरप्रदेश सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने गुरुवार को सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के ट्वीट के जवाब में कही। मालूम हो कि अखिलेश ने आज अपने ट्वीट में लिखा है कि लखीमपुर की घटना में नए वीडियो और सबूतों के बावजूद भी भाजपा सरकार को कुछ नजर नहीं आ रहा है। उसको सत्ता के दंभ का मोतियाबिंद हो गया है। भाजपा सरकार में दिल्ली से लेकर लखनऊ तक की ये निष्क्रियता खुद में अपराध है। ( BJP didn’t get cataract)

also read: Salute : महज 20 दिन में तैयार किया बैलून अस्पताल, 1.5 करोड़ का लागत में गजब की है कारीगरी… ( Watch Photos)

दोनों दलों की मिली भगत जगजाहिर

इसके जवाब में उत्तरप्रदेश सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ ने कहा कि लखीमपुर की घटना को लेकर सपा और कांग्रेस की साजिश पूरे प्रदेश में अराजकता फैलाने की थी। यह घटना दोनों दलों की मिली भगत जगजाहिर है। पर अंधे सिपाही और कानी घोड़ी (दो अयोग्य लोगों की दोस्ती ) की इस बेमेल और मौकापरस्त दोस्ती को जनता ने ठुकरा दिया। सरकार के प्रवक्ता ने सपा प्रमुख यादव को करारा जवाब देते हुए कहा कि सत्ता की लोलुपता में आपने (अखिलेश यादव) लोकसभा चुनाव में हाथी को भी साइकिल पर बिठाया लेकिन आपकी दाल नहीं गली और गलेगी भी नहीं। क्योंकि अंधे के हाथ बार-बार बटेर नहीं लगती।

 लखीमपुर में मृत किसानों को सीएम की मदद ( BJP didn’t get cataract)

आपको भले ही भाजपा सरकार का काम न दिखता हो। लेकिन जनता सीएम योगी आदित्यनाथ की अगुआई में एक दमदार, ईमानदार और पारदर्शी सरकार का काम देख रही है। जनता ने यह भी देखा कि किस तरह समस्या का समाधान न होने तक लखीमपुर की घटना की पल-पल की जानकारी ली एवं किसानों से लगातार बात जारी रखी। सीएम योगी ने मृत किसानों के आश्रितों को मुआवजा, परिवार के एक व्यक्ति को योग्यता के अनुसार सरकारी नौकरी, मामले की न्यायिक जांच के लिए त्वरित पहल की। उनकी संवेदनशीलता की पीड़ित परिवार के परिजन भी सराहना कर रहे हैं। पर आपको यह सब नहीं दिखेगा, क्योंकि देखना ही नहीं चाहते। ( BJP didn’t get cataract)

Leave a comment

Your email address will not be published.

17 − ten =

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
पत्नी हत्या मामले में राजेश गुलाटी को राहत
पत्नी हत्या मामले में राजेश गुलाटी को राहत