सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाने वाला ब्रेसलेट, पास आने पर देगा करंट के झटके

Must Read

भारत में कोरोना की दूसरी लहर चल रही है। जो सभी के लिए बेहद खतरनाक है। सरकार ने कोरोना के संक्रमण रोकने के लिए तमाम प्रयास कर लिए है। लेकिन सामाजिक दूरी का नियम टूटता जा रहा है। ऐसे में मेरठ में एक किसान के युवा होनहार बेटे ने ब्रेसलेट जैसी डिवाइस ईजाद की है। इस ब्रेसलेट को ईजाद करने वाले का नाम नीरज है। नीरज फिलहाल बी. टेक में फाइनल इयर की पढ़ाई कर रहा है।  एक दिन में कोरोना के 3 लाख के पार मामले दर्ज हो रहे है। आये दिन कोरोना एक नया आंकड़ा दर्ज कर रहा है। बाजार जैसी भीड़-भाड़ वाली जगहों पर सामाजिक दूरी का पालन नहीं होता है।

इसे भी पढ़ें Friendship goal: जब ऐसे दोस्त हों तो कोरोना कुछ नहीं बिगाड़ सकता !

पास आते ही लगेगा करंट का झटका

बी-टेक की पढ़ाई कर रहे छात्र नीरज उपाध्याय का दावा है कि इस ब्रेसलेट को पहनने से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना आसान हो जाएगा। इसे पहनने वाले दो लोग जब भी ज्यादा करीब आएंगे तो उन्हें करंट जैसा हल्का झटका लगेगा और उन्हें दो गज की दूरी बनाने का एहसास हो जाएगा। हालांकि ये ब्रेसलेट तभी कारगर होगा जब इसका अधिक से अधिक लोग इस्तेमाल करेंगे क्योंकि ये उन्हीं लोगों पर काम करेगा जिन्होंने ब्रेसलेट पहना होगा।

ब्रेसलेट बनाने में 130 रूपये की लागत आई

मेरठ के इंजीनियरिंग कॉलेज में बी-टेक के आखिरी वर्ष में पढ़ने वाले नीरज उपाध्याय ने अपने दोस्त पंकज चौधरी के साथ इस ब्रेसलेट का डेमो करके भी दिखाया। इस ब्रेसलेट को दो लोगों ने पहनकर जब डेमो किया तो वो तीन मीटर से ज्यादा पास नहीं आ सके। इससे ज्यादा पास आने पर उन्हें करंट जैसा झटका लगा। पुनीत का इरादा  अपनी इस डिवाइस को पेटेंट कराने का है। पुनीत का कहना है कि एक ब्रेसलेट में 130 रुपये की लागत आई है इसे ज्यादा क्वांटिटी में बनाया जाएगा तो यह लागत और कम हो जाएगी।

कारगर हो सकता है ये डिवाइस

पुनीत का कहना है कि कि सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं। ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर उनकी ये डिवाइस बहुत उपयोगी साबित हो सकती है। अगर हर कोई इंसान ये डिवाइस हाथ में पहनेगा तो खुद ही एक दूसरे से उचित दूरी बनाए रखना आसान हो जाएगा। नीरज के अनुसार ये डिवाइस सामाजिक दूरी का पालन करवाने में कारगर हो सकता है। करंट लगने से लोग खुद ही आपस में उचित दूरी बना लेंगे। 20 साल के नीरज मेरठ बाईपास रोड पर स्थित ‘दिल्ली इंस्टीट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी’ के छात्र हैं। उन्होंने 2017 में इस इंस्टीट्यूट में दाखिला लिया है।  किसान ओमपाल सिंह के बेटे नीरज की दो बहन और एक भाई हैं. परिवार में नीरज सबसे छोटे हैं.

इसे भी पढ़ें Former Maharashtra minister एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एकनाथ गायकवाड का कोरोना से निधन

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

साभार - ऐसे भी जानें सत्य

Latest News

पेट्रोल बना सिरदर्द

पेट्रोल और डीजल के दाम आज जितने बढ़े हुए हैं, पहले कभी नहीं बढ़े। वे जिस रफ्तार से बढ़...

More Articles Like This