nayaindia Samajwadi Party Bharatiya Janata Party Brajesh Pathak Rampur Assembly Election सपा ने रामपुर को बनाया ‘अराजकता का अड्डा’
kishori-yojna
देश | उत्तर प्रदेश| नया इंडिया| Samajwadi Party Bharatiya Janata Party Brajesh Pathak Rampur Assembly Election सपा ने रामपुर को बनाया ‘अराजकता का अड्डा’

सपा ने रामपुर को बनाया ‘अराजकता का अड्डा’

रामपुर (उप्र)। उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक (Brajesh Pathak) ने कहा है कि रामपुर (Rampur) में पहले मुक्त एवं निष्पक्ष चुनाव नहीं होते थे, क्योंकि समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के गुंडों का बूथों और थानों पर कब्जा रहता था। लेकिन, भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) की सरकार ने रामपुर में कानून का राज स्थापित किया। उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के नेतृत्व वाली सरकार बनने के बाद अब गुंडे या तो जेल में हैं या फिर उत्तर प्रदेश छोड़ चुके हैं। पाठक ने पांच दिसंबर को होने वाले उपचुनाव से पहले मंगलवार को रामपुर में अयोजित मतदाता सम्मेलन को संबोधित किया।

उपमुख्यमंत्री पाठक ने कहा कि सपा ने रामपुर को ‘अराजकता का अड्डा’ बना दिया था। लेकिन, भाजपा रामपुर को विकास की नयी ऊंचाईयों पर ले जाना चाहती है। पाठक ने आरोप लगाया कि सपा ने गुंडागर्दी के जरिए रामपुर को बर्बाद कर दिया। पाठक ने कहा कि रामपुर में पहले मुक्त एवं निष्पक्ष चुनाव नहीं होते थे क्योंकि, रामपुर के बूथों से लेकर थाने तक सपा के गुंडों का कब्जा होता था। भाजपा की सरकार आने के बाद राज्य में कानून का राज स्थापित हुआ है। उन्होंने लोगों से भाजपा प्रत्याशी आकाश सक्सेना को अधिक से अधिक मतों से जिताने की अपील की।

गौरतलब है कि नफरत भरा भाषण देने के मामले में इस महीने के शुरू में आजम खां को तीन साल की सजा सुनाए जाने के कारण उनकी सदस्यता रद्द होने के चलते रामपुर विधानसभा सीट खाली हुई है। इस सीट के उपचुनाव के तहत आगामी पांच दिसंबर को मतदान होगा। परिणाम आठ दिसंबर को घोषित होगा। सपा ने इस उपचुनाव में आसिम राजा को उम्मीदवार बनाया है जबकि भाजपा ने आकाश सक्सेना को टिकट दिया है। (भाषा)

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × 2 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
मुंबई में ‘नफरती भाषण कार्यक्रम’ के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई
मुंबई में ‘नफरती भाषण कार्यक्रम’ के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई