जमीयत ने धवन को हटाने की गलत वजह बताई - Naya India
देश | उत्तर प्रदेश | समाचार मुख्य| नया इंडिया|

जमीयत ने धवन को हटाने की गलत वजह बताई

नई दिल्ली। अयोध्या मामले में मुस्लिम पक्षकारों के वकील राजीव धवन को इस केस से हटा दिया गया है। इस मामले में जमीयत उलेमा ए हिंद ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में समीक्षा याचिका दायर की है पर उसने राजीव धवन की सेवा नहीं ली है। जमीयत की ओर से कहा गया है कि उनकी सेहत ठीक नहीं है इसलिए वे पैरवी नहीं करेंगे। इससे नाराज राजीव धवन ने यह बेतुकी वजह है। सेहत के आधार पर केस से हटाने के दावे को खारिज करते हुए धवन ने फेसबुक पर लिखा- दरअसल ऐसा कुछ नहीं है। यह बिल्कुल ही बेतुकी वजह है। जमीयत को ये अधिकार है कि वो मुझे केस से हटा दें, लेकिन वजह तो सही बताएं। उन्होंने यह भी लिखा की जमीअत की दलील गलत है।

दूसरी ओर जमीयत के वकील एजाज मकबूल का कहना है कि ये कहना गलत है कि बीमार होने के कारण राजीव धवन को हटा दिया गया। दरअसल, जमीयत सोमवार को ही पुनर्विचार याचिका दाखिल करना चाहता था। लेकिन राजीव धवन उपलब्ध नहीं थे इसलिए उनसे सलाह नहीं ली गई और उनका नाम लिए बगैर समीक्षा याचिका दाखिल की गई। दूसरी ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड समर्थित अन्य पक्षकारों के वकील एमआर शमशाद ने कहा कि राजीव धवन उनकी ओर से केस में वकील रहेंगे।

उन्होंने कहा कि राजीव धवन से मिल कर उनकी ओर से केस लड़ने के लिए मनाने की कोशिश करेंगे। धवन ने इस केस में मुस्लिम पक्षकारों की ओर से जी जान से मेहनत की है। उन्होंने इस केस के लिए अपना दिल और आत्मा लगाई है। इसलिए भले ही जमीयत ने उन्हें केस से हटा दिया हो। लेकिन दूसरे पक्षकार उन्हें ही बतौर वकील चाहते हैं। गौरतलब है कि अयोध्या मामले पर जमीयत की ओर से सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल की गई। याचिका एम सिद्दीक की ओर से दाखिल की गई है। इसमें सुप्रीम कोर्ट से नौ नवंबर के फैसले पर पुनर्विचार करने की मांग की गई है।

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *