UP Assembly Election 2022
देश | उत्तर प्रदेश| नया इंडिया| UP Assembly Election 2022

UP Election 2022: सपा ने कहा हम है प्रबुद्ध सम्मेलन शुरु करने वाले, भाजपा ब्राह्मण विरोधी

samajwadi party

बहराइच। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) के मद्देनजर विभिन्न दलों द्वारा ‘प्रबुद्ध सम्मेलन’ आयोजित किये जाने की होड़ के बीच सपा (SP) ने दावा किया है कि देश में ऐसे सम्मेलनों की शुरुआत सबसे पहले पार्टी ने ही की थी। UP Assembly Election 2022

रायबरेली में प्रबुद्ध सम्मेलन 1997 को जनेश्वर मिश्र और तत्कालीन रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव ने संबोधित किया था

प्रबुद्ध सभा के प्रदेश अध्यक्ष सपा विधायक मनोज पांडेय (MLA Manoj Pandey) ने कहा ‘कुछ लोग प्रबुद्ध वर्ग का झंडाबरदार होने का दावा कर रहे हैं। उन्हें शायद यह मालूम नहीं है कि देश में प्रबुद्ध सम्मेलनों की शुरुआत समाजवादियों ने ही की और देश का सबसे पहला प्रबुद्ध सम्मेलन (prabudh sammelan) जनवरी 1997 में रायबरेली में हुआ था। उस प्रबुद्ध सम्मेलन को केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री रहे जनेश्वर मिश्र और तत्कालीन रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव (Mulayam singh Yadav) ने संबोधित किया था।’ बहराइच के महसी क्षेत्र में मंगलवार को सपा के प्रबुद्ध सम्मेलन को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करने के बाद उन्होंने कहा कि 1997 में शुरूआत होने के बाद सपा ने नवम्बर 2018 में प्रबुद्ध सम्मेलनों का दूसरा चरण और 2020 में तीसरा चरण आयोजित किया था। अब 2021 में इन सम्मेलनों का चौथा चरण चल रहा है।

ब्राह्मण समाज देश को नई दिशा और सही दिशा देने का काम किया

भाजपा सरकार (BJP Government) को ब्राह्मण विरोधी करार देते हुए पांडेय ने कहा कि भाजपा सरकार जिन ब्राह्मणों की हत्या करवा रही है, उसी ब्राह्मण कुल के मंगल पांडे (Mangal Pandey) ने 1857 के आंदोलन में अंग्रेजों के विरुद्ध जंग का बिगुल फूंका था। ब्राह्मण के स्वाभिमान की बात आई तो चाणक्य ने धनानंद को गद्दी से उतारकर पिछड़े समाज के चंद्रगुप्त मौर्य को सम्राट बना दिया था। पांडेय ने कहा ‘प्रदेश भर में हो रहे प्रबुद्ध सम्मेलनों के माध्यम से हम अपने उस प्रबुद्ध और ब्राह्मण समाज के बीच जा रहे हैं, जिसने देश में कभी एक तपस्वी, कभी साहित्यकार, कभी कवि, कभी बड़ा वैज्ञानिक तो कभी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बनकर देश को नई दिशा और सही दिशा देने का काम किया है।’

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
यह एक अच्छी शुरुआत
यह एक अच्छी शुरुआत