nayaindia Omicron Fear Corona Murder : डिप्रेशन में था डॉक्टर, बेटे की छाती पर बैठकर घोट
kishori-yojna
देश | उत्तर प्रदेश| नया इंडिया| Omicron Fear Corona Murder : डिप्रेशन में था डॉक्टर, बेटे की छाती पर बैठकर घोट

Uttar Pradesh : ओमीक्रॉन,लोगों की पीड़ा और मौत देख डिप्रेशन में था डॉक्टर, बेटे की छाती पर बैठकर घोट दिया गला…

Omicron Fear Corona Murder :

कानपुर | Omicron Fear Corona Murder : कोरोना से दुनिया भर में कितनी तबाही मची है यह किसी से भी छुपा हुआ नहीं है. दूसरी लहर के दौरान भारत में भी इलाज और बेड की किल्लत के अभाव में कई लोगों ने दम तोड़ा था. आज हम आपको बताने जा रहे हैं उस पर विश्वास कर पाना मुश्किल है. आम लोगों की तो छोड़िए ओमीक्रोन डॉक्टरों के दिमाग पर भी असर डाल रहा है. इसके खतरे से लोग कितना डरे हुए उसका एक उदाहरण उत्तर प्रदेश के कानपुर से सामने आया है. बताया जा रहा है कि यहां रहने वाले डॉक्टर के दिमाग पर ओमीक्रोन कुछ इस तरह दहशत बना गया कि वह डिप्रेशन में चला गया. इतना ही नहीं उसने अपनी पत्नी और बेटे-बेटी की इस डिप्रेशन में आकर हत्या कर दी. बताया गया है कि बेटे की छाती पर बैठकर उसने उसका गला घोटा. उसके किए गए कामों को देखकर अंदाजा लगाना मुश्किल नहीं है कि उसका दिमागी संतुलन बिगड़ चुका था.

Omicron Fear Corona Murder :

डायरी में लिखी थी करतूत

Omicron Fear Corona Murder : कई बार मानसिक रोगियों ने देखा जाता है कि वह कुछ ऐसा कर जाते हैं जिसकी कल्पना करना भी मुश्किल है. लेकिन इसके बाद भी वे अपनी सामान्य आदतें पूरी करते हैं. ऐसा ही डॉक्टर के साथ हुआ. डॉक्टर का दिमागी संतुलन तो ठीक नहीं था लेकिन उसकी डायरी लिखने की आदत नहीं छूटी थी. पुलिस को उसकी डायरी से कई अहम सुराग मिले. डॉक्टर ने डायरी में लिखा था कि वह कोरोनावायरस शिकार हो गया है. उसका मानना था कि यह कोरोनावायरस और कोई नहीं बचेगा.

इसे भी पढ़ें-‘ओमिक्रॉन’ भी नहीं रोक पाएगा टीम इंडिया का कारवां, Ind Vs SA को लेकर हुई घोषणा…

फॉरेंसिक विभाग में था हेड ऑफ डिपार्टमेंट

Omicron Fear Corona Murder : आरोपी डॉक्टर का नाम डॉक्टर सुशील कुमार मंथना है. सुशील कानपुर के मेडिकल कॉलेज में फॉरेंसिक विभाग की हेड ऑफ द डिपार्टमेंट थे. बताया जाता है कि दूसरी लहर के दौरान उन्होंने इलाज के दौरान कई मरीजों को तड़प तड़प कर मरते हुए देखा था. जिसके बाद कोरोना और मरीजों के दर्द और पीड़ा उनके दिमाग में घर कर गई थी. जिसके बाद से वे डिप्रेशन में थे आप ज्यादातर घर पर ही रहते थे. पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर मेंटल अस्पताल भेज दिया है.

इसे भी पढ़ें-मायानगरी मुंबई में छाई एजाज पटेल की माया, 10 विकेट झटके

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 − 9 =

kishori-yojna
kishori-yojna
ट्रेंडिंग खबरें arrow
x
न्यूज़ फ़्लैश
एमएसएमई के लिए 9,000 करोड़ का प्रस्ताव
एमएसएमई के लिए 9,000 करोड़ का प्रस्ताव