Cyber Crime:15 दिनों में पैसे डबल करने का लालच देकर लगाया 250 करोड़ का चूना, कहीं आप ने भी तो नहीं किया था ‘गूगल प्ले स्टोर’ से डाउनलोड

Must Read

नई दिल्ली | उत्तराखंड पुलिस के स्पेशल टास्क फोर्स (STF) द्वारा एक बड़े धोखाधड़ी करने वाले साइबर अपराध का खुलासा होगा है. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि यह गिरोह 15 दिन में पैसा डबल करने का लालच देकर अब तक 250 करोड रुपए की धोखाधड़ी कर चुका है. बता दें कि करोड़ों से ठगे गए रुपयों को क्रिप्टो करेंसी ( crypto currency) में बदल कर यह हेराफेरी की गई है. उक्त मामले में उत्तराखंड पुलिस के हत्थे एक आरोपी भी चढ़ा है जिसका नाम पवन कुमार पांडेय बताया जा रहा है. शुरुआती पूछताछ में पता चला है कि इस मामले में कई विदेशी के लोगों के भी जुड़े होने की उम्मीद है. मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार इन साइबर अपराधियों के तार चीन से भी जुड़े हैं और कहां जा रहा है कि यह एप चीन की एक स्टार्टअप योजना के तहत बनाया गया था.

पावर बैंक के नाम से 12 मई तक प्ले स्टोर में था एप

बता दें कि पावर बैंक के नाम से बनाए गए इस ऐप को देश के 50 लाख से ज्यादा लोगों ने डाउनलोड किया था. 12 मई तक ये एप गूगल के प्ले स्टोर में भी मौजूद था. जानकारी के अनुसार इस पावर बैंक एप्लीकेशन के द्वारा विभिन्न योजनाओं में जमा किए गए धन को पहले क्रिप्टो करेंसी के माध्यम से विदेशों में भेजा गया. इसके साथ ही गिरोह ने मनी लॉन्ड्रिंग के लिए भारतीय पंजीकृत कंपनियों को सेल कंपनियों के रूप में इस्तेमाल किया.

इसे भी पढ़ें-  Up: डॉक्टर्स बने हैवान, मॉक ड्रिल के चक्कर में ली 22 लोगों की जान

इतने बड़े घोटाले की नही थी उम्मीद

इस संबंध में वरीय पुलिस अधीक्षक एसटीएफ अजय सिंह ने बताया कि लगातार हमें पावर बैंक एप्लीकेशन के खिलाफ धोखाधड़ी की शिकायतें मिल रही थी. उन्होंने बताया कि शुरुआती जांच में यह सामने आ गया था कि यह एक बहुत बड़ा फ्रॉड है. अजय सिंह का कहना है कि उन्हें उम्मीद नहीं थी कि यह इतना बड़ा हो सकता है. उन्होंने बताया कि उत्तराखंड पुलिस के पास 20 शिकायतें मिली थी. जिन पर धारा 420 और आईटी अधिनियम की धारा 66 C और 66 D के तहत मामला दर्ज किया गया था.

आईबी और ईडी से साझा की गई जानकारी

STF द्वारा गिरफ्तार किए गए आरोपी पवन कुमार पांडे से पुलिस ने 19 लाख टॉप 5 मोबाइल फोन और 593 सिम कार्ड बरामद किए हैं. पूछताछ में पवन ने बताया कि अलग-अलग पेमेंट गेटवे के जरिया अलग-अलग बैंक खातों में भेजी जा रही थी. STF ने ठगी में विदेशी ताकतों का हाथ होने के अनदेशे के बाद इस मामले की पूरी जानकारी खुफिया विभाग प्रवर्तन निदेशालय के साथ साझा की है.

इसे भी पढ़ें- देश के लिए सुखद खबर! 24 घंटे में एक लाख से भी कम मिले COVID के नए मामले, मौतों में भी आई कमी, जानें राज्यों का हाल

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

साभार - ऐसे भी जानें सत्य

Latest News

पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पाकिस्तान का उदाहरण देकर वैक्सीन लगवाने की अपील की..

ऋषिकेश| पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत मुख्यमंत्री पद से हटने के बाद विवादों में बने रहते है। कभी ये...

More Articles Like This