ताजा पोस्ट | देश

West Bengal Election 2021: पीएम मोदी के कान में जुल्फिकार अली ने कही थी ये बात, ये भी बताया कि क्यों पहनी थी टोपी…

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में प्रचार के दौरान एक युवक की प्रधानमंत्री मोदी के कान में कुछ बोलने की तस्वीर काफी वायरल हो रही थी. इस पर विपक्ष लगातार हमलावर होकर कह रहा था कि ये कोई हिंदू युवक है जिसने टोपी पहनकर सिर्फ तस्वीर खिंचवाई है. अब युवक की पहचान कर ली गई है युवक के विषय में मिली जानकारी के अनुसार उसका नाम जुल्फिकार अली है और वो एक मुसलमान युवक ही है. ये बात जुल्फिकार ने ही बतायी. इतना ही नहीं उन्होंने ये भी बताया है कि उस दिन सोनारपुर की रैली में उसने पीएम मोदी के कान में क्या बोला था. बता दें कि तस्वीर के वायरल होने के बाद से इस लड़के की खोज मीडिया वाले कर रहे थे. सोशल मीडिया में इस बात की चर्चा थी कि आखिर इस युवक की पहचान क्या है और उस दिन युवक ने मोदी के कान में क्या बोला था.

पीएम मोदी के कान में बतायी थी ये बात

जुल्फिकार ने बताया कि उस दिन पीएम की रैली के दौरान पार्किंग की जिम्मेवारी उसकी थी. उसने बताया कि हमें पार्किंग के साथ ही और भी कई तरह के निर्देश दिये गये थे जैसे किसी को पीएम के पास नहीं जाना है. लेकिन मेरे मन में भी और लोगों की ही तरह पीएम मोेदी से मिलने की उतनी ही इच्छा थी.  भीड़ को नियंत्रित करने के दौरान मेरा ध्यान इस ओर गया ही नहीं. लेकिन किस्मत का साथ था कि जब मेरे आदर्श पीएम मोदी वहां से पार हो रहे थे तो सभी उन्हें प्रणाम कर रहे थे  लेकिन मैंने उन्हें अपने धर्म के आचरण के अनुसार उन्हें सलाम किया. इसके बाद पीएम मोदी ने भी मुझे इसी अंदाज में सलाम किया. इसके बाद वे कार से उतरकर लोगों का अभिवादन करने लगे. इसी क्रम में उन्होंने मुझे इशारे में बुलाया. मैं जब गया तो उन्होंने मुझसे मेरा नाम पूछा लेकिन हेलिकॉप्टर की आवाज के कारण उन्हें मेरा नाम सुनाई नहीं दिया. इसके बाद मैंने पीएम के कानोंं में अपना नाम बताया.  इसके बाद पीएम मोदी ने मुझसे कहा कि जल्द ही दोबारा मिलेंगे.

 बंगाल को नहीं बनने देंगे पाकिस्तान या बांग्लादेश

जुल्फिकार ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि वे शुरू से ही पीएम का अनुसरण कहते हैं. उसने बताया कि लोग कहते हैं कि ये इलाका मिनी पाकिस्तान है, लेकिन ऐसा नहीं है कि यहां के लोग इस बात को बिल्कुल नहीं मानते. सिर्फ मैं ही नहीं यहां रहने वाला कोई भी इस बात से खुश नहीं होता कि इलाके को मिनी पाकिस्तान कहते हैं. जुल्फिकार कहते हैं कि जबतक हम जैसे भारतीय हैं तबतक इसे  बांग्लादेश- पाकिस्तान नहीं बनने देंगे. जो लोग राष्ट्रहित के बारे में सोचते हैं, परिवार के बारे में सोचते हैं, देश के बारे में सोचते हैं, वे इसे पाकिस्तान और बांग्लादेश नहीं बनने देंगे.

टोपी के साथ फोटो का बताया ये कारण

पीएम मोदी से मुलाकात के बारे में बताते हुए जुल्फिकार ने कहा कि  मैंने सपने में भी नहीं सोचा था कि मैं पीएम तक पहुंच सकुंगा. उन्होंने कहा कि मैंने ये सोचा था कि  एकबार प्रधानमंत्री मोदी को दूर से देख लूं और उनको प्रणाम कर लूं. टोपी के बारे में बताते हुए जुल्फिकार ने बताया कि पाएम की रैली के एक दिन पहले मैंने जुम्मे की नमाज के लिए गया था लेकिन अगले दिन मैंने उसी पैंट को पहन रखा था. किसी ने मुझे कहा कि आप अपनी टोपी पहन लें आपको अपनी पहचान कभी नहीं छिपाने  चाहिए.

Latest News

शियोमी अपने ग्राहकों के लिए ला रही एयर चार्जर की सुविधा, बिजली की भी जरूरत नहीं,, जानें क्या है नई टेक्नोलॉजी
Xiaomi air charging : चीन की दिग्गज टेक कंपनी शियोमी (Xiaomi) एक खास डिवाइस बनाने में जुटी हुई है, जिसमें सिर्फ आवाज…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

देश | बिहार

अजब-गजब : मोक्ष की प्राप्ति और शास्त्रों के डर से शादी के लिए तैयार हुआ ये जोड़ा, जानें क्या है मामला

पटना | देश में अजीबोगरीब शादियों का होना कोई नई बात नहीं है. ऐसे एक शादी की खबर बिहार के समस्तीपुर से सुनने को मिली है. जानकारी के अनुसार इस शादी में दूल्हे के बेटे बहु के साथ ही होते पोते और नातिन आदि भी शामिल हुए. यह हाल सिर्फ दूल्हे का नहीं था बल्कि दुल्हन पक्ष से भी था. यहां बता दें कि दुल्हन की उम्र करीब 60 वर्ष और दूल्हे की उम्र 65 वर्ष की थी. लाइट , बैंड और बाजे के साथ हुई इस शादी में गांव के साथ ही पूरे राज्य में भी सुर्खियां बटोरी. हालांकि यह और बात थी कि शादी में आए हुए मेहमान यह सोच कर चिंतित दिखे कि तोहफे में क्या दिया जाए..

क्या है मामला

लोगों से पूछताछ करने पर पता चला कि 65 वर्ष के मोतीलाल एक 60 वर्ष की मोहना के साथ पिछले 40 सालों से रह रहे हैं.इनके बीच कभी शादी विवाह जैसा कोई बंधन नहीं था लेकिन इसके बाद भी यह दोनों साथ रह रहे थे. 40 वर्षों के साथ के बाद जब उनके बच्चों और उनके बच्चों को यह जानकारी हुई कि आज तक इन दोनों की शादी ही नहीं हुई है. तब घर वालों को यह तरकीब सूझी. सब ने इस बुजुर्ग दंपत्ति को खूब समझाया कि वह शादी के लिए तैयार हो जाएं. लेकिन यह दोनों ही शादी के लिए अब मान नहीं रहे थे. इनका कहना था कि पूरी जिंदगी जब ऐसे ही बीता दी तो अब अंतिम पड़ाव में आकर कैसे शादी करें.

इसे भी पढ़ें –  ऐसा क्या हुआ कि उत्तरी कोरिया के लोग कब्र में से मांस निकालकर खाने लगे ..

मोक्ष की प्राप्ति के डर से हुए तैयार

जब दोनों बुजुर्ग शादी के लिए तैयार नहीं हुए तो घर वालों ने नई तरकीब निकाली. बच्चों ने मां-बाप को मोक्ष का डर दिखाया और कहा कि शास्त्रों में भी लिखा गया है कि बिना शादी के पति पत्नी जैसे साथ रहना एक तरह का पाप है. धर्म और शास्त्रों के डर के साथ ही मोक्ष की प्राप्ति की लालसा के कारण इन दोनों ने शादी के लिए हां कह दी. बस फिर क्या था घर के बच्चे हैं शादी की तैयारी में लग गए और धूमधाम से अपने माता-पिता की शादी करवाई.

इसे भी पढ़ें – MS Dhoni’s New Look : महेंद्र सिंह धोनी का नया लुक देखा क्या ? एक बार में पहचानना भी है मुश्किल

Latest News

aaशियोमी अपने ग्राहकों के लिए ला रही एयर चार्जर की सुविधा, बिजली की भी जरूरत नहीं,, जानें क्या है नई टेक्नोलॉजी
Xiaomi air charging : चीन की दिग्गज टेक कंपनी शियोमी (Xiaomi) एक खास डिवाइस बनाने में जुटी हुई है, जिसमें सिर्फ आवाज…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *